पत्थर शिल्पकारों के हुनर को मिलेगा नया आयाम

  • छत्तीसगढ़ सरकार की नई पहल
  • हस्तशिल्प विकास बोर्ड कर रहा सर्वे

By: Anupam Rajvaidya

Published: 19 Mar 2020, 01:48 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार के हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा पत्थर शिल्पकारों के हुनर को नया आयाम प्रदान किया जा रहा है। ग्रामोद्योग के अधिकारियों के अनुसार हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा बस्तर विकासखंड के अंतर्गत परचनपाल, भोण्ड, लामकेर, भाटपाल आदि ग्रामों में निवासरत पत्थर शिल्पकारों का सामाजिक एवं आर्थिक सर्वेक्षण का कार्य किया जा रहा है। शिल्पकला में आने वाली विभिन्न प्रकार की कठिनाइयों को जानने और समझने के लिए केंद्र सरकार के वित्तीय सहयोग से सर्वे भी किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें...सीबीएसई : कोरोना वायरस के कारण 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित
कार्यालय विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय की स्वीकृति से हस्तशिल्प बोर्ड द्वारा इसके लिए स्वीकृत 5 अनुबंधित कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। जिनके द्वारा कुल 4 माह में संबंधित क्षेत्र के पत्थर शिल्पकारों का जमीनी स्तर पर और वर्तमान में उनके रहन-सहन एवं सामाजिक तथा आर्थिक स्थिति के साथ-साथ शिल्पकला तैयार करने में आने वाली कठिनाइयां जैसे कच्चे माल की उपलब्धता, उत्पादित सामग्री का विक्रय और सामग्रियों के लिए बाजार की व्यवस्था आदि में होने वाली परेशानियों के संबंध में सर्वेक्षण किया जा रहा है। बोर्ड द्वारा सर्वेक्षण कार्य पूर्ण होने के उपरांत संबंधित शिल्पकारों की समस्याओं का नियमानुसार निराकरण बोर्ड और छत्तीसगढ़ शासन के स्तर पर करने का प्रयास किया जाएगा।
इसे भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ में आरक्षक भर्ती के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षा 1 अप्रैल से

Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned