कोरोना संक्रमण काल में इवेंट का आयोजन कर कोरोना को बुलावा दे रहा पर्यटन मंडल

कोरोना (Coronavirus Chhattisgarh Update) संक्रमण काल में योजना का प्रचार प्रसार और इवेंट का आयोजन करके पर्यटन मंडल (Chhattisgarh Tourism Board) के जिम्मेदार कोरोना को बुलावा दे रहे है और शासकीय राशि का दुरुपयोग कर रहे है। विभाग के अधिकारियों को वरिष्ठ अफसरों का भी डर नहीं है।

By: Ashish Gupta

Published: 07 Sep 2020, 07:00 AM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण काल में योजना का प्रचार प्रसार और इवेंट का आयोजन करके पर्यटन मंडल (Chhattisgarh Tourism Board) के जिम्मेदार कोरोना को बुलावा दे रहे है और शासकीय राशि का दुरुपयोग कर रहे है। विभाग के अधिकारियों को वरिष्ठ अफसरों का भी डर नहीं है। विभाग के अधिकारी बिना टेंडर लाखों रुपए का काम चहेतों को दे रहे हैं और शासकीय राशि का दुरुपयोग कर रहे हैं। दो दिन पहले विभागीय अधिकारियों ने मैनपाठ में पैरामोटर उडान का आयोजन किया था। इस आयोजन के बाद से विभागीय अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहा है।

यह है पूरा मामला

छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल ने शुक्रवार को मैनपाठ के मेहता प्वाइंट में विशेषज्ञों की उपस्थिती में पैरामोटर इवेंट का आयोजन कराया गया था। पैरामोटर को देखने के मैनपाठ के रहवासी भी पहुंचे थे। मैनपाठ पर्यटन मंडल के प्रभारी अनवर अंसारी ने स्थानीय मीडिया को बताया था, कि इवेट से मैनपाठ में संभावनाएं तलाश कर रहे है। इवेंट इंदौर की कंपनी द्वारा किया जा रहा है। पत्रिका को मिली जानकारी के मुताबिक मैनपाठ के मेहता प्वाइंट में किया गया इवेंट रायपुर की निजी कंपनी ने किया है। इस इवेंट का आयोजन कराने के लिए विभागीय अधिकारियों ने किसी भी तरह के टेंडर का आयोजन नहीं किया था। पर्यटन के जिम्मेदारों ने रायपुर की कंपनी को इवेंट दे दिया, और विभागीय अधिकारियों-कर्मचारियों को संक्रमण के खतरे में डाल दिया है। पूरे मामलें की पोल खुलने पर विभागीय अधिकारी पूरे इवेंट को ट्रायल बता रहे हैं। ट्रायल में अफसरों ने कितना खर्च किया, इस बात का जवाब विभागीय अधिकारी नहीं दे रहे हैं।

15 दिन से चल रही तैयारी
पैरामोटर इवेंट का आयोजन करने की तैयारी विभाग में बीते 15 दिनों से चल रही थी। विभागीय अधिकारी लगातार एडवेंचर इवेंट्स का आयोजन करने वाले कंपनी संचालकों से संपर्क कर रहे थे और आयोजन कराने के लिए अपनी-अपनी शर्त रख रहे थे। अधिकारियों की शर्त के अनुसार रायपुर की कंपनी इवेंट करने की तैयार हो गई, तो उन्हें काम दे दिया। पूरे मामलें में अब विभागीय अधिकारी इवेंट, कंपनी और जिम्मेदार अधिकारी का नाम बताने से बच रहे हैं और वरिष्ठ अधिकारियों से बात करने की बात कहते हुए अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।

पत्रिका संवाददाता ने मामले में जानकारी लेने के लिए पर्यटन मंडल के जीएम, एजीएम, एडवेंचर स्पोर्ट्स के मैनेजर से बात की। जीएम और एजीएम ने फोन का जवाब नहीं दिया? एडवेंचर स्पोटर््स के मैनेजर आशीष वर्मा ने फोन उठाया? उन्होंने पैरामोटर उडाए जाने की बात भी कबूली? लेकिन खुद को विभाग का अधिकारिक शख्स ना बोलते हुए जानकारी देने से मना कर दिया।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned