छत्तीसगढ़ में लौटी ठिठुरन, पारा 6 डिग्री गिरा

सरगुजा संभाग का अधिकतर हिस्सा कोहरे की चादर में लिपटा

सरगुजा-बिलासपुर संभागों में लौटी तीखी शीतलहर

By: ramendra singh

Published: 14 Jan 2021, 06:15 PM IST

रायपुर . उत्तर के पर्वतीय क्षेत्रों से आ रही ठंडी हवाओं ने छत्तीसगढ़ में फिर से ठिठुरन लौट आई है। हवाओं के प्रभाव से पिछले दो दिनों से प्रदेश के तापमान में गिरावट जारी है। बीते 24 घंटे में प्रदेश का न्यूनतम तापमान एक से चार डिग्री सेल्सियस तक कम हुआ। यही वजह है कि सरगुजा और बिलासपुर संभागों में शीतलहर लौट आई है। मौसम विज्ञान केंद्र मुताबिक गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक सरगुजा संभाग का जशपुर प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान बना हुआ है। कृषि विज्ञान केंद्र जशपुर में तापमान 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। वहां बुधवार को न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री दर्ज हुआ था। कोरिया जिले के सलका में बुधवार को न्यूनतम तापमान 10.5 डिग्री था लेकिन गुरुवार को यह 4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बलरामपुर का तापमान 5 डिग्री सेल्सियस है। सरगुजा के मुख्यालय अम्बिकापुर में 5.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। यह जनवरी के सामान्य तापमान से बहुत कम है। रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के एचपी चंद्रा ने बताया, उत्तर से आ रही ठंढी और शुष्क हवाओं से प्रदेश के तापमान में गिरावट आ रही है। हालांकि बस्तर संभाग के जिलों पर इस हवा का असर कम है। शहरों का तापमान सामान्य के आसपास आ गया है। सरगुजा संभाग में शीतलहर जैसी स्थिति है।


बीते दो दिनों में तेजी से बढ़ी रात में सर्दी
सरगुजा संभाग के बाहर पेण्ड्रा रोड का तापमान ही 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे है। वहां न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। यह वहां के सामान्य तापमान 11.2 डिग्री से 2.8 डिग्री कम है। बीते 24 घंटों में वहां के तापमान में 1.4 डिग्री सेल्सियस का अंतर आया है। बीते दो दिनों के बदलाव से राजधानी रायपुर में रात पिछले सप्ताह की तुलना में ठंढी हुई है। आज सुबह भी ठिठुरन बनी रही। लेकिन यह यहां के सामान्य तापमान से अधिक ही है। रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र की वेधशाला में तापमान न्यूनतम तापमान 12.2 डिग्री मापा गया।

ramendra singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned