कांग्रेस ने खोला 36 हजार करोड़ के नान घोटाले से जुड़ी डायरी का राज, बोली - नागपुर से है सीधा कनेक्शन

छत्तीसगढ़ में आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।

By: Ashish Gupta

Updated: 01 Mar 2020, 03:11 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस आलाकमान ने मोर्चा संभालते हुए केन्द्र सरकार पर सीधा आरोप लगाया है। दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने छापेमारी को राजनीति कार्रवाई बताया है। उन्होंने प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकार में हुए 36 हजार करोड़ के नागरिक आपूर्ति घोटाले का जिक्र करते हुए आरएसएस और भाजपा पर सीधा हमला बोला।

कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने बताया, छत्तीसगढ़ में पिछले चार दिनों से आयकर विभाग और सीआरपीएफ की टीम प्रदेश सरकार और पुलिस को बगैर सूचित किए भिन्न-भिन्न जगहों पर छापेमार रही है। आयकर विभाग की छापेमारी से ये साफ पता चलता है कि मोदी सरकार अपने भ्रष्टाचार को उजागर होते हुए देख लडख़ड़ा गई है।

उन्होंने नागरिक आपूर्ति घोटाले का जिक्र करते हुए इशारों-इशारों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा। सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि इस घोटाले का सीधा कनेक्शन नागपुर और दिल्ली से है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, राज्य की पुलिस को इस घोटाले से जुड़ी एक डायरी मिली थी, कांग्रेस जिसे पहले उजागर कर चुकी है।

उन्होंने बताया कि इस डायरी के कुछ पन्नों में यह साफ अंकित था कि इस घोटाले का कुछ हिस्सा कैसे नागपुर और दिल्ली भाजपा कार्यालय भेजा रहा था। इस डायरी में यह भी अंकित था कि किस प्रकार से 36 हजार करोड़ के नान घोटाले के भ्रष्टाचार का कथित पैसा दिल्ली के भारतीय जनता पार्टी के नेताओं तक आता था।

सुरजेवाला ने पनामा पेपर लीक मामले को लेकर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और उनके बेटे और पूर्व सांसद अभिषेक सिंह पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, पनामा पेपर लीक मामले में पूर्व सीएम के बेटे अभिषेक सिंह का नाम आने के बाद भी पीएम मोदी ने कोई जांच नहीं की, क्योंकि ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स और डीआरआई मोदी के गठबंधन सहयोगी हैं।

उन्होंने भूपेश बघेल को ईमानदार मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि जब प्रदेश की सरकार किसानों के 11 हजार करोड़ माफ करती है और किसानों को 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल धान का बोनस देती है तो दिल्ली की केन्द्र सरकार के पेट में दर्द होने लगता है। कांग्रेस प्रवक्ता ने केन्द्र की मोदी सरकार पर संघीय ढांचे को ध्वस्त करने का भी आरोप लगाया।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned