scriptclictar ne adhikariyo ko tambaku sevan nhi karne ke shapath dilaee | विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जागरुकता रथ रवाना, कलेक्टर ने दिलाई तम्बाकू सेवन नहीं करने की शपथ | Patrika News

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जागरुकता रथ रवाना, कलेक्टर ने दिलाई तम्बाकू सेवन नहीं करने की शपथ

डॉ. राकेश कुुमार प्रेमी ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक तंबाकू के सेवन से दुनियाभर में हर साल 80 लाख से ज्यादा लोग मरते हैं। किसी भी तरह के तंबाकू का सेवन करने से फेफड़ों की क्षमता कम हो जाती है और सांस की बीमारियों की गंभीरता बढ़ जाती है।

रायपुर

Published: June 01, 2022 04:54:01 pm

बलौदाबाजार। विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के मौके पर कलेक्टर डोमन सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उपस्थित समस्त जिला अधिकारीयों को तम्बाकू सेवन नहीं करने की शपथ दिलाई गई। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत लोगों को तम्बाकू सेवन से होने वाले नुकसानों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जागरुकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।
कलेक्टर ने सार्वजनिक स्थलों व शैक्षणिक संस्थाओं के आसपास कोटपा एक्ट को कड़ाई से पालन करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हंै। बैठक में जिला तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. राकेश कुुमार प्रेमी ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक तंबाकू के सेवन से दुनियाभर में हर साल 80 लाख से ज्यादा लोग मरते हैं। किसी भी तरह के तंबाकू का सेवन करने से फेफड़ों की क्षमता कम हो जाती है और सांस की बीमारियों की गंभीरता बढ़ जाती है। तंबाकू का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। हर साल विश्व तंबाकू निषेध दिवस अलग थीम के साथ मनाया जाता है। इस साल विश्व तंबाकू निषेध दिवस की थीम तम्बाकू हमारे पर्यावरण के लिए खतरा पर मनाया जा रहा है। तंबाकू किसी भी रूप में चाहे वह धुएं के रूप में लिया जाए या फिर ऐसे ही सेवन किया जाए, नुकसानदायक ही होता है। तंबाकू से ना केवल कैंसर का खतरा होता है, बल्कि इसके कारण डायबिटीज, उक्त रक्तचाप, हृदय रोग डिमेंशिया, अल्जाइमर सहित महिलाओं में प्रजनन क्षमता को कम कर सकता है। सिगरेट के धुएं में आर्सेनिक, फार्मलाडिहाइड और अमोनिया जैसे हानिकारक केमिकल्स पाए जाते हैं जो न सिर्फ पीने वाले को, बल्कि धुएं के जरिए उसके आसपास रहने वालों को भी प्रभावित करते हैं। ऐसे में सिगरेट के धुएं के संपर्क में आने वाले व्यक्ति में भी इन बीमारियों की चपेट में आने की आशंका बढ़ जाती है। जिले में जिला अस्पताल सहित प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में तंबाकू नशा मुक्ति केंद्र बनाए गए हैं। जहां इस बाबत चिकित्सा स्टाफ सहयोग करते हैं।
विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जागरुकता रथ रवाना, कलेक्टर ने दिलाई तम्बाकू सेवन नहीं करने की शपथ
विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जागरुकता रथ रवाना, कलेक्टर ने दिलाई तम्बाकू सेवन नहीं करने की शपथ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.