सीएम भूपेश की बड़ी घोषणा: इन राज्यकर्मियों का महंगाई भत्ता बढ़ा, पुलिस को मिलेगी साप्ताहिक छुट्टी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के कर्मचारियों और शिक्षकों के महंगाई भत्ता बढ़ाने व पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देने की घोषणा की है

By: Deepak Sahu

Updated: 10 Mar 2019, 08:34 AM IST

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के कर्मचारियों और शिक्षकों के महंगाई भत्ता बढ़ाने व पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश देने की घोषणा की है। अब प्रदेश के करीब 443186 कर्मचारियों को 5 फीसदी की जगह 9 फीसदी महंगाई भत्ता मिलेगा। इससे शासन पर करीब 700 करोड़ का वित्तीय भार पड़ेगा। नई व्यवस्था 1 मार्च से लागू हो जाएगी।

कर्मचारियों को अप्रैल के वेतन के साथ बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता जोडकऱ दिया जाएगा। वहीं, प्रारंभिक स्तर पर आरक्षक से निरीक्षक स्तर के पुलिसकर्मियों को ही अवकाश दिया जाएगा। पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी ने इसकी गाइड लाइन जारी कर दी है। इससे प्रदेश के 62648 पुलिसकर्मियों को अवकाश की पात्रता होगी।

सीएम ने शनिवार को न्यू सर्किट हाउस में एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते की घोषणा का ऐलान करते हुए कहा, पूर्व की रमन सरकार ने इसे क्यों नहीं लागू किया, ये समझ से परे हैं, लेकिन हम इसे लागू कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पेंशनरों के महंगाई भत्ता में 4 फीसदी की वृद्धि की गई है। मुख्यमंत्री की इस घोषणा से प्रदेश के करीब 85 हजार पेंशनरों को लाभ मिलेगा।

443186 कुल शासकीय कर्मचारी
15424.90 करोड़ वेतन में होने वाले अनुमति व्यय
85000 पेंशनर को भी मिलेगा लाभ
700 करोड़ का आएगा अतिरिक्त भार
62648 प्रदेश में पदस्थ पुलिसकर्मी

इन्हें नहीं मिलेगा साप्ताहिक अवकाश
पुसिल महानिरीक्षक, पुलिस उप महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और छसबल के वरिष्ठ अधिकारी के कार्यालय में पदस्थ है। इसके अलावा पुलिस मुख्यालय, छसबल मुख्यालय, रेडियो मुख्यालय, टे्रनिंग स्कूल और अकादमी में पदस्थ पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश नहीं मिलेगा।

माओवाद प्रभावित क्षेत्र में 3 माह में एकमुश्त 8 दिन की छुट्टी
माओवाद प्रभावित और दुर्गम क्षेत्र में पदस्थ जिला पुलिस बल के अधिकारियों और कर्मचारियों को साप्ताहिक अवकाश नहीं दिया जाएगा। इसके स्थान पर उन्हें तीन माह में एकबार आठ दिन की एकमुश्त छुट्टी दी जाएगी।

एसपी तैयार करेंगे रोस्टर
थाने में पदस्थ कर्मियों को रात्रि ड्यूटी करने के बाद पूरे 24 घंटे का अवकाश सप्ताह में एकबार दिया जाएगा। यह अवकाश रात्रि ड्यूटी के बाद शुरू होकर अगले दिन प्रात: गणना या रोलकॉल तक के लिए रहेगा। अवकाश के लिए एसपी अपने-अपने जिलों में थाने एवं चौकियों में पदस्थ कर्मियों को रोस्टर तैयार करेंगे, जिससे पुलिसकर्मियों को मालूम होगा कि उनका साप्ताहिक अवकाश किस दिन होगा।

वीवीआइपी भ्रमण व कानून व्यवस्था की संगीन स्थिति निर्मित होने पर अवकाश निरस्त होता है तो उसी माह यथासंभव अवकाश दिया जाएगा। लगभग यही व्यवस्था छत्तीसगढ़ सशस्त्र सुरक्षा बल की जिलों में पदस्थ कंपनियों के कर्मियों के लिए भी लागू होगी।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned