कोरोना पर पीएम मोदी के जनता कर्फ्यू वाले संदेश पर सीएम भूपेश का समर्थन

छत्तीसगढ़ पहुंचा कोरोना, रायपुर में पहला पॉजिटिव केस
राज्य सरकार ने सभी नगरीय निकायों में धारा 144 लागू किया

लंदन से मुंबई होते हुए रायपुर पहुंची थी युवती, माता-पिता पहुंचे थे एयरपोर्ट लेने
जिला प्रशासन ने स्कूल, शराब दुकान, मॉल, चौपाटी, सुपर बाजार, क्लब, ब्यूटी पार्लर को अनिश्चितकाल के लिए किए बंद

By: ramendra singh

Updated: 20 Mar 2020, 12:46 AM IST

रायपुर . छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जनता कर्फ्यू वाले सुझाव का समर्थन किया है। उन्होंने अपने फेसबुक में लिखा है, प्रधानमंत्री द्वारा देश को दिया गया संदेश महत्वपूर्ण है। मैं छत्तीसगढ़ प्रदेश की तरफ से केंद्र सरकार एवं प्रधानमंत्री को विश्वास दिलाता हूं कि कोरोना संक्रमण से लडऩे के लिए उनके द्वारा उठाएं और सुझाए गए प्रत्येक कदम का हम सब समर्थन करेंगे।

पीएम मोदी ने जारी की अपील-22 को सुबह सात से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू

कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात देश को संबोधित किया। पीएम ने कहा कि ये संकट ऐसा है, जिसने विश्व भर में पूरी मानवजाति को संकट में डाल दिया है। उन्‍होंने कहा कि 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया है, आवश्यक सावधानियां बरती हैं। लेकिन, बीते कुछ दिनों से ऐसा भी लग रहा है जैसे हम संकट से बचे हुए हैं, सब कुछ ठीक है। वैश्विक महामारी कोरोना से निश्चिंत हो जाने की ये सोच सही नहीं है। पीएम ने लोगों से अपील की कि वे जनता कर्फ्यू लगाएं। ये क्‍या है और आम जनता इसे कैसे लागू करेगी, पीएम ने इसके बारे में भी बताया।

यह है जनता कर्फ्यू
पीएम मोदी के मुताबिक, इस रविवार यानि 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक कोई व्‍यक्ति बाहर न निकले। अपने आप से कफ्र्यू जैसे हालात करने हैं। पीएम ने अपील की कि संभव हो तो हर व्यक्ति प्रतिदिन कम से कम 10 लोगों को फोन करके कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के साथ ही जनता-कर्फ्यू के बारे में भी बताए। पीएम ने अपील की कि रविवार को ठीक 5 बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। पीएम ने अस्‍पतालों पर दबाव का जिक्र करते हुए लोगों से कहा कि वे रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं, उतना बचें।

रायपुर में पहला पॉजिटिव केस

छत्तीसगढ़ में प्रदेश सरकार के काफी सतर्कता बरतने के बावजूद कोरोना वायरस से पीडि़त एक मरीज की पुष्टि हुई है। संक्रमित मरीज के सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने रायपुर के समता कॉलोनी को सील कर दिया है। राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में धारा 144 लागू कर दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनता के नाम दिए संदेश में इसकी घोषणा की। इसके साथ ही शराब दुकान, मॉल, चौपाटी, सुपर बाजार, क्लब, ब्यूटी पार्लर को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। इस आदेश के वायरल होते ही दुकानों में रोजमर्रा के सामान लेने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने अपील की है कि इससे लोग घबराएं नहीं, बल्कि कोरोना से लडऩे में सरकार और सिस्टम का सहयोग करें।

लंदन के बिजनेस स्कूल की छात्रा है युवती
बता दें कि रायपुर के समता कॉलोनी निवासी 28 वर्षीय युवती कोरोना से पीडि़त है। वह लंदन के बिजनेस स्कूल में पढ़ाई करती है। वह 15 मार्च को लंदन से मुंबई होते हुए रायपुर पहुंचीं। उसे रिसीव करने के लिए माता-पिता पहुंचे थे। तीनों एक ही कार में घर पहुंचे। 17 मार्च को सर्दी व जुकाम की शिकायत को लेकर युवती एम्स गई, जहां उसका सैंपल लेकर घर भेज दिया गया। 18 मार्च को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिविि नकली। इस केस को पूरी तरह से गोपनीय रखाकर सरकार ने पुणे स्थित इंडियन बायरोलॉजिकल लैब पुणे से इसकी पुष्टि करवाई। इसी रिपोर्ट के बाद बुधवार की रात में स्वास्थ्य अमला दल-बल के साथ युवती के घर पहुंचा। उसे पर्सोनल प्रोटेक्शन (पीपी) किट पहनाकर एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवा दिया गया। एम्स अधीक्षक डॉ. करण पिपरे ने बताया कि युवती स्वस्थ है। युवती के माता-पिता को भी एम्स में आईसोलेट किया गया है।

ramendra singh Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned