चार से पांच साल बाद भी अधूरे राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्य, सीएम ने केंद्रीय परिवहन मंत्री को लिखी चिट्ठी

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है, रायपुर से धमतरी मार्ग का निर्माण कार्य एनएचएआई करा रहा है। यह कार्य लगभग 2 वर्ष बंद रहने के बाद शुरू हुआ, लेकिन निर्माण की गति अत्यंत धीमी है। वहीं पत्थलगांव से कुनकुरी मार्ग की स्थिति भी बहुत खराब है।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 17 Jun 2020, 04:08 PM IST

रायपुर. प्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्गों की धीमी गति से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नाखुश चल रहे हैं। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र भी लिखा है। इसमें उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्गों में निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने और अंबिकापुर-भैसामुड़ा-वाड्रफनगर-धनगांव-बम्हनी-रेनुकुट मार्ग (छत्तीसगढ़ में लम्बाई 110 किलोमीटर) और रायगढ़-धरमजयगढ़ मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 149बी चांपा-कोरबा-कटघोरा मार्ग के उन्नयन एवं चौड़ीकरण कार्य की एनएचएआई से शीघ्र स्वीकृति जारी करने का अनुरोध भी किया है।

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है, रायपुर से धमतरी मार्ग का निर्माण कार्य एनएचएआई करा रहा है। यह कार्य लगभग 2 वर्ष बंद रहने के बाद शुरू हुआ, लेकिन निर्माण की गति अत्यंत धीमी है। वहीं पत्थलगांव से कुनकुरी मार्ग की स्थिति भी बहुत खराब है। यहां 4 वर्ष पहले काम शुरू हुआ था, परंतु 2 वर्ष से अधिक समय से 25 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का यह भाग अत्यंत खराब एवं अधूरा है। जबकि यह जशपुर से गुजरता और झारखण्ड राज्य को जोड़ता है। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में बताया है कि रायगढ़-सारंगढ़-सरायपाली मार्ग का निर्माण कार्य मार्च 2015 में शुरू हुआ था। यह कार्य पांच वर्ष बाद भी अधूरा है। इस परियोजना के अंतर्गत महानदी पर 1.50 किलोमीटर लम्बा सेतु निर्माण एवं 22 किलोमीटर कांक्रीट रोड बनाया जाना शेष है, परंतु अक्टूबर 2019 से कार्य लगभग बंद है। मुख्यमंत्री ने यह भी लिखा है, राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 111 बिलासपुर-पतरापाली-कटघोरा मार्ग एनएचडीपी फेस-4 योजना में अनुमोदित है। बिलासपुर से पतरापाली के मध्य कार्य प्रगति पर है। परंतु पतरापाली से कटघोरा के मध्य मार्ग की हालत अत्यधिक खराब है एवं मुनगाडीह पुल निर्माणाधीन है। मुनगाडीह नाले पर क्षतिग्रस्त पुल के स्थान पर नये पुल का निर्माण एवं पतरापाली से कटघोरा मार्ग का संधारण कार्य वर्षाऋतु के पूर्व कराना अत्यंत आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से इसके लिए संबंधितों को निर्देश जारी करने का आग्रह किया है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned