रईसजादों से पूछताछ में खुलासा: चॉकलेट के नाम पर करते कोकीन की ब्रांडिंग, राजधानी में रेव पार्टी की थी तैयारी

तस्करों ने कोकीन (Cocaine ) का नाम चॉकलेट रखा था और ग्रुप में चॉकलेट के नाम से ब्राडिंग करते थे। सूत्रों के मुताबिक रायपुर में रईसजादों की एक रेव पार्टी (rave party) भी होने वाली थी।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 08 Oct 2020, 11:32 AM IST

रायपुर. कोकीन तस्करी (Cocaine trafficking) करते पकड़े गए दो पैडलर रायपुर को कोकीन का बड़ा मार्केट बना रहे थे। इसके लिए दोनों शहर के रईसजादों का ग्रुप बना रखे थे। और उनकी पार्टियों के लिए कोकीन उपलब्ध कराते थे। तस्करों ने कोकीन का नाम चॉकलेट रखा था और ग्रुप में चॉकलेट के नाम से ब्राडिंग करते थे। सूत्रों के मुताबिक रायपुर में रईसजादों की एक रेव पार्टी (rave party) भी होने वाली थी। इसके लिए ड्रग का इंतजाम दोनों पैडलर्स को करना था। इसके लिए बने गुप में कारोबारी, बिल्डर और कुछ नेताओं के रिश्तेदारों को जोड़ा गया था।

कोकिन के लिए पैडलर से वाट्सएप चैटिंग थे रईसजादे, पुलिस ने की पांच घंटे की पूछताछ

बुधवार को पुलिस ने वॉट्सऐप चैटिंग के आधार पर दो बिल्डरों से पूछताछ की। उन्होंने स्वीकार किया है कि वे कोकिन का सेवन करते हैं। उन्होंने बताया कि वे अपने खास दोस्तों के साथ पार्टी करते थे। उस पार्टी के लिए कोकिन लेते थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रायपुर में एक रेव पार्टी के लिए आउटर के एक बड़े फार्महाउस को लिया गया था। इस पार्टी में खास-खास लोगों को शामिल करने के लिए इनवाइट किया जा रहा था। इसमें कोकीन के साथ अन्य ड्रग, शराब लेने की भी तैयारी थी।

कोरोना काल में ट्रेनें बंद तो सड़क मार्ग से हो रहा करोड़ों का नशा कारोबार

रेव पार्टी में रायपुर के अलावा दूसरे शहर के युवक-युवती भी शामिल होने वाले थे। हालांकि दोनों पैडलर की गिरफ्तारी से पूरा मामला ठंडा पड़ गया। उल्लेखनीय है कि पुलिस ने श्रेयांश झाबक और विकास बंछोर को कोकिन बेचते गिरफ्तार किया है। रायपुर में दोनों ड्रग पैडलर के रूप में लंबे समय से काम रहे थे। दोनों के मोबाइल में कई वाट्सएप चैटिंग मिली है, जिसमें किचन सप्लाई करने का संकेत है।

क्या है रेव पार्टी
रेव पार्टी रइसजादों में काफी प्रचलित है। इसमें युवक युवतियों का एक ग्रुप होता है, जिसे सर्किट कहते हैं। आउटर में किसी खुले स्थान पर यह फार्म हाउस-होटल में इसका आयोजन करते हैं। इसमें ड्रग तस्कर शराब के अलावा कोकीन, ब्राउन शुगर और अन्य महंगे मादक पदार्थ उपलब्धकराते हैं। रेव पार्टी में नशा, म्यूजिक और ओपन सेक्स का माहौल रहता है। इसमें सर्किट से जुड़े युवाओं के अलावा कोई बाहर का व्यक्ति शामिल नहीं हो सकता। रेव पार्टी के जरिए ही तस्कर काफी मुनाफा कमाते है। इसमें एक ही रात में लाखों और कभी-कभी तो करोड़ रुपए का धंधा हो जाता है।

सभी के बयान दर्ज
कोकीन तस्करों के मोबाइल की जांच के बाद दो दिन में पुलिस आधा दर्जन लोगों को तलब कर चुकी है। सभी का कोकीन सेवन और तस्करों से संबंध को लेकर बयान दर्ज किए जा रहे हैं। मंगलवार को पुलिस ने चार लोगों को बुलाया था। इसके बाद बुधवार को दो और युवकों को बुलाया। कोकीन लेने वाले सभी की उम्र 20 से 40 साल के बीच हैं। सभी ने कोकीन का सेवन करने की जानकारी दी है। 8 से 10 हजार रुपए में एक ग्राम कोकीन खरीदने का भी उल्लेख किया है।

इवेंट के बहाने बढ़ाने थे संपर्क
विकास इवेंट मैनेजमेंट का काम भी करता था। इस कारण कई होटलों व अन्य स्थानों पर कल्चरल एक्टिविटी आयोजित करता था। इस दौरान विकास और श्रेयांश अपना संपर्क बढ़ाते थे। और केवल पैसे वालों के बीच ही कोकिन को चॉकलेट के रूप में प्रचारित करते थे। एक चॉकलेट का मतलब एक ग्राम कोकीन होता था। अधिकांश लोग वीकेंड की पार्टी में कोकीन लेते थे।

बिल्डिंग निर्माण लाइन से जुड़े दो युवाओं को बुलाया गया था। उनसे कई घंटों पूछताछ की गई है। मंगलवार को चार लोगों से पूछताछ की गई है। कोकीन को चॉकलेट के रूप में प्रचारित करते थे। कोकीन लेने वाले कुछ और लोग हैं। उनसे भी पूछताछ की जाएगी। एक अन्य तस्कर की तलाश की जा रही है।
डीसी पटेल सीएसपी, कोतवाली, रायपुर

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned