कलेक्टर अपने बच्चों को बनाकर देते हैं पतंग, आईपीएस विज बोले- पतंग लूटने खूब दौड़े और चोट भी खाई

इंटरनेशनल काइट डे पर शेयर की यादें

ताबीर हुसैन @ रायपुर। शहर में पतंगबाजी को लेकर माहौल बना हुआ है। रविवार से ही काइट फेस्ट मनाया जा रहा है। 14 जनवरी को इंटरनेशनल काइट डे है लेकिन इससे पहले ही सेलिब्रेशन शुरू हो चुका है। रविवार को फाफाडीह स्थित मंडी ग्राउंड में पटेल समाज ने पतंगबाजी उत्सव मनाया वहीं सोमवार को जेसीआई रायपुर राइज सिटी ने सड्डू स्थित स्कूल में पतंग उड़ाई। इस मौके पर हमने कलेक्टर डॉ एस. भारतीय दासन और वरिष्ठ आईपीएस आरके विज से उनके अनुभव भी जाना। दोनों ने बताया कि स्कूल टाइम पर खूब पतंगबाजी की थी। इधर, शहर में पतंगोत्सव के लिए हर कोई तैयार है।

खुद बनाते थे मांजा
आईपीएस आरके विज ने बताया कि स्कूल टाइम पर मैंने काफी पतंगबाजी की। जब किसी क्षेत्र से पतंग कट कर हमारे इलाके में आती थी तो उसे लूटने के लिए दोस्तों के बीच दौड़ कॉम्पीटिशन हो जाती थी। इस दौरान चोट भी आती तो किसी को परवाह नहीं होती। उस वक्त मांजा भी हम खुद बनाते थे। कई गड्डियां बनाकर रखते।

कलेक्टर अपने बच्चों को बनाकर देते हैं पतंग, आईपीएस विज बोले- पतंग लूटने खूब दौड़े और चोट भी खाई

कभी किसी की पतंग नहीं काटी
कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने कहा कि पतंगबाजी का शौक तो खूब था। दोस्तों के साथ कई-कई घंटे पतंग उड़ाते थे। हमने कभी मांजे वाली पतंग नहीं उड़ाई। पैरेंट्स को लगता था कि इससे हाथ में नुकसान होगा और पक्षियों के लिए भी खतरा। हम आज भी अपने बच्चों के लिए पतंग बनाते हैं लेकिन वह सिंपल धागा वाला। पतंगबाजी में रोमांच के अलावा एक्सरसाइज भी होती है।

कलेक्टर अपने बच्चों को बनाकर देते हैं पतंग, आईपीएस विज बोले- पतंग लूटने खूब दौड़े और चोट भी खाई
Tabir Hussain Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned