कांग्रेस ने आम बजट को हवाहवाई बातों से भरपूर मात्र बताया, PCC चीफ बोले - चंद पूंजीपतियों के लिए है ये बजट

- जमीनी वास्तविकता से कोसों दूर : किसी भी वर्ग की जरूरतों का नहीं किया ख्याल
- गरीबों के लिये सामाजिक क्षेत्रों के लिये इस बजट में कुछ भी नहीं है

By: Ashish Gupta

Published: 01 Feb 2021, 02:15 PM IST

Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

रायपुर. केन्द्रीय बजट (Union Budget 2021) को निराशाजनक और हवा हवाई बातों से भरपूर निरूपित करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम (Congress first react on Budget 2021) ने कहा है कि केन्द्रीय बजट चंद पूंजीपतियों के लिये लाया गया बजट मात्र है। काल्पनिकता से परिपूर्ण 5 राज्यो के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर लाया गया केन्द्रीय बजट जमीनी वास्तविकता से कोसों दूर और चुनावी बजट है किसान, मजदूर, नौजवान, गृहणियों, मध्यमवर्गीय परिवारों व्यापार उद्योग किसी भी वर्ग की जरूरतो पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। गरीबों के लिये सामाजिक क्षेत्रो के लिये इस बजट में कुछ भी नहीं है।

राजधानी में डबल मर्डर: पूर्व वनमंत्री की बहू-पोती की हत्या, फिर हत्यारे ने शव दीवान में छुपाया

छत्तीसगढ़ जैसे गतिशील अर्थव्यवस्था वाले प्रदेश की जरूरतो को नजरअंदाज किये जाने पर गहरा दुख व्यक्त करते हयु प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि जीडीपी की गिरती दर, बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी व्यापार व्यवसाय उद्योग धंधो की दुर्दशा पर केन्द्रीय बजट में कोई ध्यान नहीं दिया गया है। केन्द्रीय बजट इस बात पर भी खामोश है कि करोनाकाल में 20 हजार करोड़ के पैकेज के नाम पर घोषित लाभ संबंधित वर्गो को कैसे मिलेगा?

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आरोप लगाया है कि केन्द्रीय बजट इतना सतही है और बिना किसी गंभीर तैयारी के लाया गया है कि देश का बजट दरअसल सिर्फ 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर लाया जा रहा चुनावी बजट बनकर रह गया।

कोरोना का खतरा कायम: कोंडागांव जिले में एक साथ 22 स्कूली बच्चे मिले संक्रमित

केन्द्रीय बजट में कई सरकारी कंपनियों (उपक्रमों) के विनिवेश की घोषणायें पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा है कि मोदी सरकार सरकारी उपक्रमों को बेचने में ही लगी है जो बेहद दुखद है, देशहित में नही है जैसे रेल्वे बेचेगी डेडिकेटेड फ्रेड कॉरिडोर एसेट। एयरपोर्टस के अगले चरण की बिक्री जल्द GAIL, IOC, HPCL की पाइपलाइन एसेट बिकेंगे। इंश्योरेंस सेक्टर में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FD) की सीमा को 49 फीसद से बढ़ाकर 74 फीसद करने की घोषणा की।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned