कांग्रेस बोली- लॉकडाउन में मौतों पर चुप्पी के लिए माफी मांगें मोदी

रोड़ों लोगों का रोजग़ार छिन गया और आज सरकार कह रही है कि उसके पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री को माफ़ी तो इस बात के लिए भी मांगनी चाहिए कि उन्होंने देश को कोरोना की भयंकर आपदा में ढकेल दिया।

By: Karunakant Chaubey

Published: 15 Sep 2020, 08:51 PM IST

रायपुर. प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा, केंद्र सरकार का यह बयान स्वीकार्य नहीं है कि लॉकडाउन के दौरान घर लौटते गऱीब मज़दूरों की मौतों का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस ग़ैर ज़िम्मेदाराना रवैये के लिए देश से माफ़ी मांगनी चाहिए।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा, जिस समय मज़दूर पैदल घर लौटने को मजबूर हुए उस समय देश में आपदा प्रबंधन क़ानून लागू था और केंद्र सरकार हर फ़ैसले ख़ुद ले रही थी। करोड़ों लोगों का रोजग़ार छिन गया और आज सरकार कह रही है कि उसके पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री को माफ़ी तो इस बात के लिए भी मांगनी चाहिए कि उन्होंने देश को कोरोना की भयंकर आपदा में ढकेल दिया।

अगर प्रधानमंत्री ने बिना सोच विचार किए लॉकडाउन न किया होता और समय रहते एयरपोर्ट को सील कर दिया होता तो आज देश कोरोना की ऐसी भयावह मार न झेल रहा होता। कांग्रेस नेता ने कहा, प्रधानमंत्री नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी ऐसी गलतबयानी कर चुके हैं।

pm modi PM Narendra Modi
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned