scriptConnect youth power with spirituality for building a Hindu nation,know | हिंदू राष्ट्र निर्माण के लिए युवा शक्ति को अध्यात्म से जोड़ें, जानिए और क्या बोले शंकराचार्य | Patrika News

हिंदू राष्ट्र निर्माण के लिए युवा शक्ति को अध्यात्म से जोड़ें, जानिए और क्या बोले शंकराचार्य

रायपुर. सुदर्शनम् संस्थानम् शंकराचार्य आश्रम में पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती से शिष्य परिवार आशीर्वाद और पादुका पूजन करने पहुंच रहे हैं।

रायपुर

Updated: February 23, 2022 09:17:10 am

यहां 18 फरवरी से शंकराचार्य महाराज विराजे हुए हैं, जहां पादुका पूजन कर अब तक २०० लोगों ने दीक्षा ग्रहण किया है। महाराज दो दिन और 25 फरवरी तक आश्रम में रहेंगे।

यहां राष्ट्रोत्कर्ष गोष्ठी में मंगलवार को शंकराचार्य ने कहा कि आज का युवा सनातन परंपरा से भटक रहा है। उन्हें विज्ञान की शिक्षा के साथ ही धर्म-अध्यात्म से भी जोडि़ए। इससे वह जागृत होगा, वही राष्ट्र की शक्ति है, तभी राष्ट्र रक्षा और हिंदू राष्ट्र का उद्देश्य सफल होगा। यह सभी संप्रदाय के लिए लाभकारी है। क्योंकि हम विश्व का कल्याण चाहते हैं।
हिंदू राष्ट्र निर्माण के लिए  युवा शक्ति को अध्यात्म से जोड़ें, जानिए और क्या बोले शंकराचार्य
हिंदू राष्ट्र निर्माण के लिए युवा शक्ति को अध्यात्म से जोड़ें, जानिए और क्या बोले शंकराचार्य
राजधानी के रावांभाठा सुदर्शन आश्रम में महाराज ने कहा कि जब हम विश्व का कल्याण चाहते हैं तो उसमें सब समाहित हैं। किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं, बल्कि राष्ट्र निर्माण में लग जाना है। महाराज धर्म वाहिनी और आदित्य वाहिनी की सदस्यों की जिज्ञासाओं को भी शास्त्रों को उद्घृत करते हुए समझाया। आश्रम में प्रतिदिन सुबह 11 से 2 बजे तक दर्शन, दीक्षा, पादुका पूज, हिन्दू राष्ट्र संगोष्ठी चल रही हैं। शाम को 6 बजे से महाराज प्रवचन एवं धर्म व राष्ट्र के लिए जरूरी सनातन मानबिंदुओं पर प्रकाश डालते हैं।
शासन तंत्र से समाज निर्माण की उम्मीद नहीं की जा सकती

शंकराचार्य ने कहा कि हमारी सनातन व्यवस्था शास्त्र सम्मत सिद्धांतों पर आधारित है। समाज का निर्माण सुसंस्कारित, सुशिक्षित, सुसंस्कृति आचार-विचार की दृढ़ता से होता है। तभी राम राज्य की व्यवस्था आती है। एेसा काम सरकारें नहीं कर सकती हैं। हर परिवार अपने बच्चों को सनातन संस्कृति के अनुरूप शिक्षित करे। तभी सामाजिक, आर्थिक वातावरण बनेगा, यही तो हिंदू राष्ट्र है, जो आध्यात्मिक ऊर्जा से ओतप्रोत हो, जिसमें युवा शक्ति की भूमिका महत्वपूर्ण है। परंतु आज युवा शक्ति दिग्भ्रमित है, निराशाग्रस्त है।
युवाओं के लिए प्रशिक्षण सत्र चलेगा

शंकराचार्य ने शिष्यों से कहा कि युवाओं स्थापित आदित्य वाहिनी, आनंद वाहिनी, धर्म संघ पीठ परिषद से जोड़ो। उन्हें प्रशिक्षित कर राष्ट्र निर्माण के लिए तैयार करो। समय दुर्लभ है, उसका सदुपयोग करो। इन संगठनों और सेवा प्रकल्पों से जोडऩे की बात कही गई।
आगे क्या कार्यक्रम होंगे

आचार्य झम्मन प्रसाद शास्त्री ने बताया कि शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती हिंदू राष्ट्र निर्माण अभियान में निकले हुए हैं। रायपुर के बाद 25 फरवरी को मध्यप्रदेश में हिंदू राष्ट्र निर्माण संगोष्ठी करेंगे। इस वर्ष 22 से 26 जून को महाराज का प्रकाट्य महोत्सव भाठापारा में मनेगा। 23वां साधना शिविर पुष्कर तीर्थ राजस्थान में आयोजित होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

दिल्ली-NCR में सुबह-सुबह खतरनाक आंधी के साथ बारिश, कई जगह उखड़े पेड़, फ्लाइट्स प्रभावितज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआक्रांताओं द्वारा तोड़े गए मंदिरों के बारे में बात करना बेकार है: सद्गुरु
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.