दिन में पुलिस का पहरा, रात में घर के लिए पैदल जाने वालों को समझाकर दे रहे सुरक्षित छत

एसडीओ प्रशांत साहू के साथ छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन जुटा है सेवा में, शासन-प्रशासन भी दिशा-निर्देशों के आगे मजबूर, नहीं जाने देते ऐसे लोगों को

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 18 Apr 2020, 06:55 PM IST

रायपुर. कोरोना वायरस ने एक देश को दूसरे देश से, एक राज्य को दूसरे और एक जिले को दूसरे जिले से अलग-थलग कर दिया है। सभी अपने-अपने क्षेत्र को वायरस के संक्रमण से बचाने में दिन-रात से जुटे हुए हैं।
केंद्र सरकार ने पहले 21 और अब 19 दिन का लॉक-डाउन कर दिया है, जो जरूरी है। मगर, ऐसी स्थिति में जो लोग जहां रह गए, वे वहां से हिल नहीं सकते। क्योंकि चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। सीमाएं सील हैं। आकाश से लेकर जमीन के सभी आवागमन के साधन-संसाधन बंद हैं। मगर सोचिए जो इन घर-द्वार से सैंकड़ों किमी दर फंसे लोग के बारे में हैं। ये रात को ही निकल पड़ते हैं, पैदल अपने घरों की ओर... मगर, इससे खतरा है।
ऐसे में इन्हें आश्रय देने की जिम्मेदारी है जिला प्रशासन की। और इसका जिम्मा कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने सौंपा है एसडीओ धरसींवा प्रशास साहू को। वे रोज रात में अपनी रैपिड रिस्पॉंस टीम के साथ निकल पड़ते हैं, ऐसे ही लोगों की मदद के लिए। जो भी मिलता है, वे उन्हें समझाते हैं। और कहते हैं कि हम आपकी सेवा में हैं। खाना और रहने के लिए छत दोनों मुहैया करवाई जाती है। 'पत्रिकाÓ से बातचीत में प्रशांत कहते हैं कि लोगों तकलीफ में हैं। दुखी हैं। उनका दुख महसूस किया जा सकता है। लोग रोने भी लगते हैं। मगर, क्या करें उन्हें जाने नहीं दिया जा सकता। प्रशांत कहते हैं कि ओडिशा, मध्यप्रदेश, झारखंड और अपने प्रदेश में बिलासपुर, मुंगेली और बस्तर के लोग मिले हैं। गौरतलब है कि प्रशासन ने लाभांड़ी और धरमपुरा में २५० लोगों के रूकने की व्यवस्था की है।

ओडिशा से पैदल शहडोल जा रहे थे

एसडीओ प्रशांत बताते हैं कि कुछ दिनों पहले हमें चार लोग मिले जो ओडिशा से निकले थे और पूछा जाने पर बताया कि शहडोल जा रहे हैं। वे भूखे थे तो उन्हें तत्काल खाना मुहैया करवाया गया। 112 की गाड़ी बुलवाई गई और लाभांडी आश्रय केंद्र में पहुंचाया गया। कुछ मजदूर उरला से कच्ची सड़क से जा रहे थे, उन्हें भी रोका गया।

छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन का सहयोग

इस विपदा की घड़ी में छत्तीसगढ़ ब्लड डोनर फाउंडेशन के सदस्य एसडीओ के साथ मौजूद रहते हैं। ये मौके पर लोगों को खाना-पानी, मास्क मुहैया करवाता है। फाउंडेशन के सदस्य विवेक साहू, कीर्ती साहू, रितेश कुणाल, देवेंद्र और नरेंद्र निरंतर सेवा दे रहे हैं। यह टीम अपने साथ खाने के पैकेट लेकर चलती है।

Corona virus
Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned