बड़ी राहत : 3 जिलों में मिली 65 प्रतिशत से अधिक हर्ड इम्युनिटी, मगर अभी भी नियम से चलना होगा

पत्रिका एक्सक्लूसिव-

- आईसीएमआर ने देश के 72 जिलों में किया था सर्वे, उनमें राज्य के बीजापुर, कबीरधाम और सरगुजा शामिल थे (सीरो सर्वे की रिपोर्ट)

By: Bhupesh Tripathi

Published: 29 Jul 2021, 08:45 PM IST

रायपुर . राज्य के 3 जिलों में इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने छत्तीसगढ़ के 3 जिलों में हुए सीरो सर्वे की रिपोर्ट जारी कर दी है। आम लोगों के साथ-साथ हेल्थ केयर वर्कर के सैंपल लेकर हुए इस अध्ययन के मुताबिक बीजापुर के आम लोगों में 68.3, कबीरधाम में 66.3 और सरगुजा में 75.8 प्रतिशत हर्ड इम्युनिटी मिली है। यह स्थिति 10 महीने पहले हुए पहले सीरो सर्वे में 13.41 प्रतिशत पाई गई थी। उसकी तुलना में यह अधिक है। जो इस बात को प्रामाणित करती है कि संक्रमण समुदाय में पूरी तरह से फैल चुका है। मगर, अभी भी सतर्कता बरतने की जरुरत है।

'पत्रिका' के पास मौजूद इस रिपोर्ट के मुताबिक बीजापुर में 398 सैंपल में 272, कबीरधाम में 403 लोगों में 267 और सरगुजा में 397 लोगों में 301 लोग पॉजिटिव मिले हैं। हालांकि ये अपेक्षाकृत रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, रायगढ़, कोरबा की तुलना में कम संक्रमित जिले हैं, बावजूद इसके यह हर्ड इम्युनिटी 65 प्रतिशत से अधिक मिली है। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि सर्वाधिक संक्रमित जिलों में कितनी होगी?

हर्ड इम्युनिटी की स्थिति-

जिले- प्रतिशत (आम नागरिकों में)- हेल्थ केयर वर्कर में
बीजापुर- 68.3- 69.7

कबीरधाम- 66.3- 73.0
सरगुजा- 75.8- 74.0

(नोट- मई में हुआ था सर्वे। बीते दिनों आईसीएमआर ने देश में हर्ड इम्युनिटी की रिपोर्ट जारी की थी।)

हेल्थ केयर वर्कर में 70 प्रतिशत इम्युनिटी
सर्वे के दौरान हेल्थ केयर वर्करों के भी सैंपल लिए गए थे। इनकी रिपोर्ट भी राज्य को भेजी गई है। बीजापुर में 69.7, कबीरधाम में 73.0 और सरगुजा में 74 प्रतिशत हर्ड इम्युनिटी पाई है। यह चिंता का विषय है, क्योंकि 90 प्रतिशत से अधिक हेल्थ केयर वर्कर को पहला और 70 प्रतिशत को दूसरा डोज लग चुका है। जिन्होंने नहीं लगवाया है उन्हें खतरा है।

टीकाकरण ही बचाव- कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण ही एक मात्र जरिया है। अगर, हम दोनों डोज लगवाते हैं तो हम सुरक्षित हो सकता हैं। बहरहाल राज्य में सिर्फ 7 प्रतिशत लोगों को ही दोनों डोज लग पाए हैं।
-------------------

हर्ड इम्युनिटी की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जो पहले हुए सर्वे के मुकाबले बेहतर है। मगर, जिस प्रकार से कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जाहिर की गई है, तो हमें सतर्कता बरतनी ही है।
- डॉ. सुभाष मिश्रा, प्रवक्ता एवं संचालक, महामारी नियंत्रण कार्यक्रम, स्वास्थ्य विभाग

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned