रजिस्ट्री कार्यालय में कोरोना का कहर, उप पंजीयक की मौत, आठ कर्मचारी संक्रमित

- पंजीयक, एक अन्य उप पंजीयक समेत आठ कर्मचारी संक्रमित .

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 07 Sep 2020, 09:09 PM IST

रायपुर। रजिस्ट्री कार्यालय में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। रविवार को एक उप पंजीयक की मौत हो गई है। इसके अलावा पंजीयक, एक अन्य उप पंजीयक और अन्य चार कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इस तरह रजिस्ट्री कार्यालय में अब तक आठ लोगों के संक्रमित होने की खबर है। मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को कार्यालय में कार्यारत सभी अधिकारियों की कोरोना जांच कराई गई थी। जिसमें अब तक दो अधिकारी, दो बाबू और एक कंप्युटर आपरेटर को संक्रमित पाया गया है। बतादें कि उप पंजीयक को बीते मंगलवार को हालत बिगडऩे के बाद से एमएमआई अस्पताल में भर्ती कराया गया था। तब से वो वेंटीलेटर में थे। रविवार को दोपहर उनकी मृत्यु हो गई।

बढ़ रहे मौत के मामले शासकीय कार्यालय बंद करने की मांग
कोरोना सक्रमण मरीजों की संख्या में लगातार वृद्वि, मंत्रालय, संचालनालय सहित जिलों में कोरोना से मृत्यु दर में बढ़ोतरी होने से अधिकारी कर्मचारियों व आम नागरिकों में हड़कंप मचा हुआ है। मंत्रालय में 03 युवा अधिकारी कर्मचारी, संचालनालय में 03 कर्मचारी, कसडोल के नायब तहसीलदार, सेवा निवृत्त बस्तर व राजनांदगावं के कर्मचारी नेता की कोरोना के कारण मृत्यु हो गई है। छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संध ने प्रदेश के शासकीय शालाओं, निजी विद्यालयों, महाविद्यालयों की भॉति तत्काल मंत्रालय, संचालनालय, विभागाध्यक्ष कार्यालय सहित जिलों के समस्त शासकीय कार्यालयों को आम जनता के लिए तत्काल बंद करने की मांग मुख्यमंत्री से की है। आंगनबाड़ी केन्द्रों को चालू करने के अव्यवहारिक निर्णय पर पुर्नविचार करने की मांग की है। प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संध प्रदेशाध्यक्ष विजय कुमार झा ने बताया है कि

हो रही है लापरवाही
इंद्रावती भवन, महानदी भवन, विभागाध्यक्ष कार्यालयों सहित जिलों के जिला तहसील, विकासखंड स्तर के कार्यालयों में बढ़ते संक्रमण के बाद भी कार्यालयों को सील न करने, संचालनालय कर्मचारी संघ के आंदोलन करने पर उसकी उपेक्षाकरते हुए केन्द्र व राज्य शासन के एडवाइजरी के बाद भी कन्टोन्मेंट जोन घोषित न करने के कारण लोक सेवकों की मृत्यु बढ़ती जा रही है।

तहसील के अलावा कलेक्टोरेट का कमरा फिर सील
अंतिम सस्कार कराने में कर्तव्यरत नायब तहसीलदार के संक्रमित होने से 07 दिवस तहसील कार्यालय बंद करने की मांग संघ ने की थी। कलेक्टर कार्यालय के कक्ष क्रमांक 10 में एक कर्मचारी संक्रमित होने से 03 दिन के लिए इस कक्ष को सील किया गया है। संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु पर परिजन दूरी बनाकर चल रहे है, वहां स्वास्थ कर्मचारी, नगर निगम कर्मचारी व पुलिस व जिला प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी न केवल अंतिम संस्कार कर रहे है, साथ ही पूरी व्यवस्था कर रहे है। ऐसे योद्वाओं को कोराना भत्ता व बीमा का लाभ प्रदान किया जाना चाहिए।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned