CG Corona Update: स्टेशन से लेकर रेलवे कारखाना तक कोरोना विस्फोट

- रेलवे के 50 से अधिक कर्मचारी चपेट में
- रोस्टर सिस्टम लागू नहीं होने से बढ़ी समस्या

By: Ashish Gupta

Updated: 03 Apr 2021, 09:44 PM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहरी इस कदर फैली कि स्टेशन से लेकर रेलवे कारखाने में कोरोना की चपेट में 50 से अधिक कर्मचारी अब तक आ चुके हैं। इन स्थितियों में सबसे बड़ी समस्या वैगन रिपेयर शॉप में है, जहां ठेका मजदूरों के साथ ही कर्मचारी ग्रुप में काम करते हैं। इसके बावजूद रोस्टर सिस्टम का तरीका रेलवे ने नहीं अपनाया। केवल डीआरएम ऑफिस में कार्मिक और वाणिज्य विभाग के कुछ कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम किया गया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते मामलों से फिर बढ़ी मुश्किलें, शादी के लिए होटल-गार्डन की कई बुकिंग रद्द

तेजी से संक्रमण की चपेट में कर्मचारियों के आने से दूसरे कर्मचारी भी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अभी तक 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति का पालन भी शुरू नहीं किया गया है। जबकि राज्य शासन के संचालनालय और मंत्रालय में केस बढ़ने की स्थिति को देखते हुए कोरोना नियम के अनुसार लागू कर दिया गया है। रेलवे में कोरोना फैलाव का केस सबसे पहले रेलवे के कार्मिक विभाग के छह कर्मचारियों से सामने आई। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव के बाद कार्यालय के सेनिटाइज कराकर कर्मचारियों को दूर-दूर बैठने की व्यवस्था की गई।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना का नया वैरिएंट एन-440 मिला, वायरस कितना घातक वैज्ञानिकों को पता नहीं

इसके बाद स्टेशन के टिकट बुकिंग कार्यालय में 14 कर्मचारी चपेट में आ गए। रेलवे में हड़कंप तब मचा जब रेलवे कारखाना में ग्रुप में काम करने वाले 30 से अधिक संक्रमित हो गए। लेकिन कारखाना में मालगाड़ी के वैगन रिपेयर का काम होने के कारण प्रबंधन 50 प्रतिशत कर्मचारी की उपस्थिति का सिस्टम लागू नहीं किया। केवल कार्यालयीन कुछ कर्मचारियों को ही घर से काम करने की सहूलियतें दी गई।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना से बिगड़े हालात, इस साल एक दिन में रिकॉर्ड सबसे ज्यादा मौतें

रेलवे के सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद पंवार ने कहा, रेलवे प्रशासन द्वारा सभी विभाग प्रमुखों को निर्णय लेने के लिए निर्देशित किया गया है। रेलवे हॉस्पिटल में कोरोना टीके भी लगवाए जा रहे हैं। कार्मिक और वाणिज्य विभाग के कुछ कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम किया गया है।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned