होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पॉजिटिव को 10 दिन की फीस 3000 से ज्यादा नहीं देनी पड़ेगी

इलाज का खर्च मरीज और डॉक्टर आपस में तय कर सकते हैं, लेकिन 10 दिनों का 3000 से ज्यादा नहीं होगा।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 05 Sep 2020, 09:05 AM IST

रायपुर. राजधानी में होम आइसोलेशन में रहने इच्छुक कोरोना संक्रमित मरीजों के अंडरटेकिंग को लेकर स्वास्थ्य विभाग और इंडियन मेडिकल है एसोसिएशन (आईएमए) के बीच चल रहे विवाद का पटाक्षेप हो गया है। आईएमए के सदस्य डॉक्टर कोरोना संक्रमित मरीजों की अंडरटेकिंग के लिए तैयार हो गए हैं।

एक डॉक्टर 20 मरीजों की मोबाइल के माध्यम से मॉनिटरिंग करेंगे। इलाज का खर्च मरीज और डॉक्टर आपस में तय कर सकते हैं, लेकिन 10 दिनों का 3000 से ज्यादा नहीं होगा। होम आइसोलेशन में दवाएं सरकार उपलब्ध कराएगी, लेकिन मरीजों को ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर और जांच के अन्य उपकरण खरीदने होंगे।

होम आइसोलेशन के मरीजों के अंडरटेकिंग की सूची जारी करने के बाद उत्पन्न हुए विवाद को सुलझाने हेल्थ डायरेक्टर नीरज बंसोड ने शुक्रवार को न्यू सर्किट हाउस में आईएमए की बैठक बुलाई थी। राज्य में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए होम आइसोलेशन के माध्यम से इलाज किए जाने के संबंध में बैठक में चर्चा की गई। आईएमए के एक सदस्य ने बताया कि बैठक में मरीज के मॉनिटरिंग करने की फीस, एक डॉक्टर के जिस्म मरीजों की संख्या, तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी तय करने समेत कई बिन्दुओं पर चर्चा हुई।

स्वास्थ्य विभाग और आईएमएफ के बीच तय हुआ है कि 10 दिन होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज से 3000 हजार से ज्यादा फीस नहीं लिया जाएगा। एक डॉक्टर 20 मरीजों की मॉनिटरिंग कोरोना। मरीज 24 घंटे में एक बार डॉक्टर को फोन कर अपनी तबीयत के बारे में जानकारी देगा तथा पूरा रेकार्ड मेंटेन कर भेजेगा। यदि किसी मरीज की तबीयत खराब होती है तो उसको अस्पताल में भर्ती कराने की जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की होगी।

आईएमए के सदस्य ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सभी जोनों में एक-एक जोन प्रभारी बनाए जा रहे हैं। जोन प्रभारी का नंबर डॉक्टर और मरीज दोनों के पास रहेगा। तबीयत बिगड़ने पर जोन प्रभारी को सूचित किया जाएगा। जोन प्रभारी की जिम्मेदारी होगी कि मरीज को कैसे और किसी अस्पताल में भर्ती कराया जाता है।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned