राहत: अब निजी लैब में 1600 रुपए में जांच, स्वास्थ्य विभाग ने जारी की कोरोना टेस्टिंग की संशोधित दरें

राज्य सरकार ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक बड़ी राहत दी है। निजी अस्पतालों और पैथोलॉजी लैब में कोरोना जांच शुल्क में संशोधन कर दिया गया है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 17 Sep 2020, 09:10 AM IST

रायपुर. राज्य सरकार ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक बड़ी राहत दी है। निजी अस्पतालों और पैथोलॉजी लैब में कोरोना जांच शुल्क में संशोधन कर दिया गया है। बुधवार तक आरटी-पीसीआर जांच के लिए लैब 2,400 रुपए प्रति सैपल ले रहे थे, अब वह शुल्क 1,600 रुपए निर्धारित कर दिया गया है। एंटीजन टेस्ट 900 रुपए में होंगे। उधर, व्यक्ति लैब में जाकर टेस्ट करवाना चाहता है तो शुल्क अलग और अगर घर में आकर लैबकर्मी सैंपल लेते हैं तो उसका शुल्क अलग है।

इसके साथ ही लैब राज्य के बाहर और राज्य के अंदर संचालित हैं तो उनकी दरें अलग-अलग रखी गई हैं। बीते हफ्तेभर में देश में संक्रमण की रफ्तार में तेजी आने के बाद कई राज्यों ने जांच शुल्क घटाए। जिसके बाद से राज्य में भी मांग उठने लगी कि दरें कम की जाएं क्योंकि सरकारी कोरोना जांच केंद्रों में भारी भीड है। रिपोर्ट मिलने में भी देरी हो रही है। जिसके बाद सरकार ने यह निर्णय लिया। सबसे पहले निजी लैबों में कोरोना जांच शुल्क,500 रुपए था।

नई दरें इस प्रकार है

आरटी-पीसीआर टेस्ट
1600 रुपए (पैथोलॉजी सेंटर में जाकर टेस्ट करवाने पर)
1800 रुपए (सैंपल कलेक्शन मरीज के घर जाकर करने पर)
नोट: अगर लैब राज्य के अंदर संचालित है।

आरटी-पीसीआर टेस्ट

2000 रुपए (पैथोलॉजी सेंटर में जाकर टेस्ट करवाने पर)
2200 रुपए (सैंपल कलेक्शन मरीज के घर जाकर करने पर)
900 रुपए एंटीजन टेस्ट
नोट: अगर लैब राज्य के बाहर संचालित है।

निर्धारित शुल्क में ये सब कुछ शामिल : सरकार द्वारा तय की गई इन दरों में सैंपल कलेक्शन, परिवहन शुल्क, जांच शुल्क, कंज्यूमेबल, पीपीई किट समेत अन्य सभी शुल्क शामिल किए गए हैं। इनका शुल्क कोई भी लैब अलग से नहीं ले सकतीं।

Corona virus corona virus in india corona virus origin
Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned