राशन दुकान में धांधली का बड़ा खुलासा, वीडियो में देखिए एेसे होता है पूरा खेल

राशन दुकान में धांधली का बड़ा खुलासा, वीडियो में देखिए एेसे होता है पूरा खेल

Ashish Gupta | Updated: 17 Jul 2019, 02:11:58 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

Corruption in PDS: छत्तीसगढ़ के पीडीएस (PDS) को देश के लिए मॉडल बताया जाता है लेकिन हकीकत तो यह है कि आम हितग्राहियों की राशन में कटौती की जा रही है।

रायपुर/जितेंद्र दहिया. कहने को तो छत्तीसगढ़ के पीडीएस (PDS) को देश के लिए मॉडल बताया जाता है लेकिन हकीकत तो यह है कि आम हितग्राहियों की राशन में कटौती की जा रही है। ऐसा नहीं है कि इसकी जानकारी विभागीय अधिकारियों को नहीं है। पहले ही पत्रिका ने खुलासा किया था कि खाद्य निरीक्षकों को 2000 रुपए प्रति माह इसी तरह के गड़बड़ियों पर (Corruption in PDS) आंख मूंदने के लिए दिए जाते हैं।

पत्रिका ने वीर सावरकर वार्ड क्रमांक 01 हीरापुर स्थित राशन दुकान क्रमांक 441001001 की पड़ताल की तो यहां का नजारा चौंकाने वाला था। दुकान संचालक द्वारा खुलेआम तराजू को एक किलो कम में सेटिंग करके रखा था। एक-एक हितग्राही के हिसाब से 7 किलोग्राम चावल वितरण किया जाता है। एक ही परिवार को मिलने वाले 35 किलो चावल में खुलेआम 1 से दो किलो की कटौती की जा रही है।

दुकान संचालक के तौलने के बाद पत्रिका संवाददाता ने पास के हार्डवेयर दुकान में लगे डिजीटल वेटिंग मशीन में चावल तौलवाया तो 1 से 2 किलो चावल कम निकला। इतना ही नहीं एक कार्ड में मिलने वाला 1 किलो शक्कर भी 200 से 300 ग्राम कम निकला। पूरा माजरा पत्रिका ने अपने कैमरे में कैद किया।

हर माह लाखों का गोलमाल
राशन दुकान में 1465 कार्ड का पंजीयन है। यदि सभी राशनकार्डधारियों से औसत 1 किलो चावल की कटौती की जाती है तो हर माह ढाई क्विंटल चावल और 6 किलो शक्कर का गोलमाल होता है।

कार्डधारियों से होती है बेअदबी
पत्रिका टीम जब मौके पर पहुंची तो यहां बैठे सेल्स मैन द्वारा बात बात में बेअदबी की जा रही थी। यदि कोई कार्डधारी जवाब देता तो उन्हें उन्हें बिना राशन दिए वापस करने की धमक देते।

Corruption in PDS

नहीं होता केरोसीन का वितरण
राशन कार्डधारी 44010101016021 अनिता शाह के नाम पर है। राशन लेने के बाद जब इनका चावल और शक्कर पत्रिका ने तौलवाया तो चावल में 1 किलो 8 सौ ग्राम कम निकला। इतना ही नहीं शक्कर भी 300 ग्राम कम थी। जब केरोसिन वितरण के संबंध में मौजूद कार्डधारियों से चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि यहां केरोसिन वितरण नहीं किया जाता है। जबकि ग्रामीण इलाका होने के कारण केरोसिन की आवश्यकता पड़ती रहती है।

हर माह का यही हाल
कार्डधारी मिथिलाबाई यादव कार्ड क्रमांक 44010010113174 को कुल 70 किलो चावल मिलता है। इसको जब वेटिंग मशीन में तौला गया तो उसमें 2 किलो चावल कम मिला। इसके अलावा शक्कर में 200 ग्राम कम मात्रा मिली। राशन लेने आए महिला के पति ने बताया कि हर माह कम ही मिलता है। कुछ बोलने हैं तो वापस करने की बात कही जाती है।

कलक्टर रायपुर डॉ.एस. भारतीदासन ने कहा, खाद्य नियंत्रक को गड़बडिय़ां सुधारने के निर्देश दिए गए हैं। आपने जो जानकारी दी है उसके लिए कार्रवाई करने के निर्देशित किया जाएगा।

Corruption in PDS से जुड़ी खबरें यहां पढ़िए

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या Download करें patrika Hindi News App.

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned