नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी ओपी गुप्ता को कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक रिमांड पर भेजा

एडीजे राधिका सैनी की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने दिया आदेश

रायपुर. नाबालिग से रेप के मामले में गिरफ्तार पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के ओएसडी ओपी गुप्ता को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। गुरुवार को फास्ट ट्रैक कोर्ट में राधिका सैनी ने मामले की सुनवाई करते हुए गुप्ता को 14 दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। बता दें कि इससे पहले ओपी गुप्ता को सिविल लाइन थाना पुलिस ने नाबालिग लड़की के साथ रेप के आरोप में गिरफ्तार किया था।
गिरफ्तारी के बाद ओपी गुप्ता को कोर्ट में पेश किया गया था, जहां कोर्ट ने उन्हें 16 जनवरी तक न्यायिक रिमांड में भेज दिया था। गुरुवार को उनकी रिमांड खत्म होने पर उसे कोर्ट में पेश किया गया।

माओवादी खात्मे के लिए इसी माह राजधानी रायपुर में होगी उच्चस्तरीय बैठक

गौरतलब है कि पीडि़ता ने ओपी गुप्ता पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मजबूरी का फायदा उठाकर गुप्ता ने कई बार उसका यौन शोषण किया है। बताया यह भी जा रहा है कि ओपी गुप्ता ने पीडि़ता का दो बार अबॉर्शन करवाया है। मामले में पीडि़ता ने बीते दिनों शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद पुलिस ने ओपी गुप्ता को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी ओपी गुप्ता के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया है।

ट्राई ने डीटीएच ग्राहकों को दी राहत, अब 130 रुपए में देख पाएंगे 200 फ्री टू एयर चैनल
ओपी गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद मामले में खुलासा करते हुए एडिशनल एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि ओपी गुप्ता तीन साल से नाबालिग को शादी का झांसा देकर उसके साथ यौन शोषण कर रहा था। गुप्ता ने या रायपुर निवास और सरकारी बंगले में इस घिनौने करतूत को अंजाम दिया है। वहीं, पुलिस ने यह भी बताया कि जब पीडि़ता शिकायत करने की बात कहती तो उसे डरा धमका कर शांत कर दिया जाता था।

ashutosh kumar Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned