कोरोना से मरने वालों में महिलाओं से पुरुष तीन गुना अधिक, केवल 30 प्रतिशत महिलाएं संक्रमित

- अगस्त 2020-128 की मौत, जिनमें 96 पुरुष, 2 ट्रांसजेंडर और 30 महिलाएं।
- मरने वालों में 70 प्रतिशत 50 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के थे।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 23 Aug 2020, 11:43 PM IST

रायपुर. प्रदेश में कोरोना वायरस पूरी तरह से हावी हो चुका है। कोरोना का सबसे ज्यादा असर अगस्त में दिखाई दे रहा है, अब तक 10,000 से अधिक संक्रमितों की पहचान हो चुकी है, तो वहीं 128 जानें जा चुकी हैं। इन मौतों में चौकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं, जो यह बताते हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) काफी अधिक होती है। यानी महिलाओं के अंदर रोगों से लडऩे की क्षमता ज्यादा पाई जाती है। मरने वाले 128 लोगों में 96 पुरुष थे। 30 महिलाएं थीं। 'पत्रिका' ने इन आंकड़ों पर विशेषज्ञों के साथ एनालिसिस किया। विशेषज्ञों ने इस बात की तस्दीक की है कि महिलाओं पर कोरोना का प्रभाव कम दिख रहा है। इसके पीछे एक नहीं कई ठोस वजहें हैं।

18 मार्च से छत्तीसगढ़ में कोरोना की दस्तक के बाद से अब तक 20,000 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक इनमें 70 प्रतिशत पुरुष और 30 प्रतिशत महिलाएं हैं। भारत समेत विश्व का ट्रेंड भी यही बना हुआ है। मौतों के आंकड़ों का भी यही ट्रेंड है। स्थिति स्पष्ट है कि पुरुषों को खासकर परिवार के बुजुर्गो पुरुषों के प्रति हमें ज्यादा सचेत, सतर्क रहने की आवश्यकता है। उनका ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत है।

पुरुष के संक्रमित होने और फिर गंभीर स्थिति में पहुंचने की वजहें

पहला- डॉक्टरों, विशेषज्ञों का मानना है कि शुगर, हार्ट अटैक, हाइपरटेंशन और सांस की सम्स्या जैसे बीमारियां पुरुषों में ज्यादा देखने को मिलती है। इसकी एक बड़ी वजह है, उनके द्वारा लिया जाने वाला तनाव। तनाव नौकरी, कारोबार, रोजगार या अन्य दूसरे भी हो सकते हैं। वहीं महिलाएं में इन बीमारियों का प्रतिशत ३० के करीब होता है, वहीं 10-15 प्रतिशत जेनेटिक होता है।

दूसरा- भारत के परिपेक्ष में पुरुष महिलाओं की तुलना में ज्यादा नशा करते हैं। शराब, गुटखा, बीड़ी-सिगरेट और अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं। जिनकी वजह से उनका लिवर और लंग्स दोनों ज्यादा प्रभावित होते हैं।

तीसरा- डॉक्टर यह भी मानते हैं कि महिलाओं की तुलना में पुरुष ज्यादा घर से बाहर आना-जाना करते हैं। ज्यादा लोगों से मिलते हैं। इस दौरान वायरस से बचाव के लिए जारी निर्देश का पालन नहीं करते। विशेषज्ञों का मानना है कि पुरुष, महिलाओं की तुलना में अधिक लापरवाह भी होते हैं।

कुछ प्रमुख मामले
रायपुर के 5 सबसे बड़ा कोरोना हॉट स्पॉट मंगल बाजार, रामकुंड, सदाणी दरबार, अर्जुन नगर और कुकुरबेडा़ में सर्वाधिक पुरुष ही संक्रमित पाए गए। आईटीबीपी, सीआरपीएफ, पुलिस बल में पुरुष स्टाफ सर्वाधिक संक्रमित पाए गए।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या करें-
डॉक्टरों के मुताबिक इम्युनिटी बढ़ाने के लिए नशीले पदार्थों का सेवन बंद करना होगा। आयुष मंत्रालय द्वारा सुझाव गए काढ़े का सेवन करना होगा। यह काढ़ा सभी शासकीय आयुर्वेद कॉलेजों में भी उपलब्ध है। इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार काढ़ा घर पर तैयार कर सकते हैं।

डब्ल्यूएचओ भी इस बात प्रमाणित करता है कि जो व्यक्ति पदाथों का सेवन करते हैं। धूम्रपान करते हैं। उनके कोरोना से संक्रमित होने की प्रबल संभावना होती है। राज्य में कितने संक्रमित व्यक्ति मादक पदाथों का सेवन करते थे,क्या मरने वाले भी सेवन करते थे। अध्ययन करवाया की आवश्यकता है।

डॉ. कमलेश जैन, सदस्य, कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम, राज्य कोरोना एंड कमांड सेंटर
पूरी दुनिया में देखने में आया है कि पुरुष ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं। क्योंकि लगभग हर बड़ी बीमारी में पुरुषों के बीमार होने का प्रतिशत महिलाओं से काफी अधिक है। कोरोना में भी यही ट्रेंड है।
डॉ. आरके पंडा, विभागाध्यक्ष, टीबी एंड चेस्ट, डॉ. भीमराव आंबेडकर अस्पताल

COVID-19 virus
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned