आंबेडकर अस्पताल में कोविड एवं नॉन-कोविड मरीजों का टेलीमेडिसिन से होगा इलाज

मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने की दिशा में टेलीमेडिसिन सेवा मील का पत्थर साबित होगा

By: Nikesh Kumar Dewangan

Updated: 02 Jul 2020, 07:26 PM IST

रायपुर. राजधानी के आंबेडकर अस्पताल में बने प्रदेश के पहले सेंटर ऑफ एक्सीलेंस टेलीमेडिसिन हब का डॉक्टर्स डे के अवसर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने किया। अब आंबेडकर अस्पताल में कोविड एवं नॉन-कोविड मरीजों का टेलीमेडिसीन से इलाज होगा।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संयुक्त तत्वाधान में स्थापित इस स्टेट टेलीकंसल्टेशन हब के माध्यम से राज्य के समस्त अस्पताल, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर आपस में इंटरनेट के जरिये जुड़े रहकर चिकित्सा विशेषज्ञों से रोगियों के उपचार से संबंधित ऑनलाइन परामर्श ले सकेंगे। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने की दिशा में टेलीमेडिसिन सेवा मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश के सुदूर क्षेत्रों में स्थित कोविड केयर अस्पताल तथा हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों में किसी प्रकार की आपातकालीन परिस्थितियों में विशेषज्ञों से चिकित्सकीय परामर्श के लिय यह सुविधा बेहद फायदेमंद होगी।

डॉक्टर्स डे की बधाई देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी से निपटने के लिए जिस तरह से डॉक्टरों का समर्पण देखने को मिल रहा है, वह सराहनीय है। राज्य सरकार की इस टेलीमेडिसिन सेवा के शुरू हो जाने से कोविड के विरूद्ध लड़ाई में एक और नई टेक्नोलॉजी का समावेश हो गया है, जिससे राज्य की जनता अधिक से अधिक लाभान्वित होगी। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा रेणु पिल्लई ने कहा कि टेलीकम्युनिकेशन के माध्यम से मरीजों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के मानक संचालन प्रक्रिया यानी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर के संबंध में आंबेडकर अस्पताल के कोविड-19 नोडल ऑफिसर डॉ. आर. के. पंडा एवं क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डॉ. ओ. पी. सुंदरानी से चर्चा की। साथ ही अम्बिकापुर, जशपुर, जगदलपुर एवं दुर्ग के डॉक्टरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की।

24 घंटे कमांड सेंटर

स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह ने सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि चौबीस घंटे चलने वाले इस कमांड सेंटर में वॉइस एवं वीडियो कॉल पर आधारित सॉफ्टवेयर स्काइप, गूगल मीट एवं अन्य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से विशेषज्ञ अपनी सलाह प्रदेश के अन्य जिलों में स्थित विषेशीकृत कोविड अस्पताल के डॉक्टरों को दे सकेंगे। वहीं, स्वास्थ्य मिशन संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला ने कहा कि सेंटर ऑफ एक्सीलेंस चिकित्सा सुविधा की सरल एवं जटिल दोनों परिस्थितियों से निपटने में सहायक साबित होगी।

आने वाले दिनों में यह क्लीनिकल मैनेमेंट के लिये बहु-विशेषज्ञ सेवा (सुपर स्पेश्यलिटी सर्विस) से संबंधित समस्त चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा करेगी। यह एक तरह का विशेषज्ञ केंद्र होगा, जहां पर मेडिसीन, कॉर्डियक, आर्थोपेडिक, सर्जरी, रेस्पिरेटरी, एनेस्थेसिया इत्यादि के विशेषज्ञ ऑनलाइन परामर्श के लिए मौजूद रहेंगे।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned