scriptCrime in Chhattisgarh: Joint team to stop Naxal problem and smuggling | ज्वाइंट इंटेरोगेशन पर जोर : नक्सल समस्या और तस्करी को रोकने बनेगी संयुक्त टीम | Patrika News

ज्वाइंट इंटेरोगेशन पर जोर : नक्सल समस्या और तस्करी को रोकने बनेगी संयुक्त टीम

Crime in Chhattisgarh: - छत्तीसगढ़ एवं ओडिशा के मध्य इंटरस्टेट को-ऑर्डिनेशन मीटिंग संपन्न
- दोनों राज्यों के डीजीपी और अफसरों के बीच बनी सहमति

रायपुर

Updated: November 17, 2021 04:55:31 pm

Crime in Chhattisgarh: रायपुर। मादक पदार्थो की तस्करी और नक्सली समस्या को सुलझाने के लिए संयुक्त टीम बनेगी। इसमें छत्तीसगढ़ के साथ ही ओडिशा पुलिस की टीम शामिल होगी। वह संयुक्त रूप से गश्त कर तस्करी और नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इंटरस्टेट को-ऑर्डिनेशन मीटिंग हुई। इसमें छत्तीसगढ़ के डीजीपी अशोक जुनेजा, ओडिशा के डीजीपी अभय कुमार समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और सीमावर्ती जिलों रायगढ़, महासमुंद, जशपुर, बिलासपुर, सरगुजा, बस्तर, सुकमा, धमतरी, गरियाबंद एवं ओडिशा के कोरापुट, नवरंगपुर, मलकानगिरी, कटक, नुआपाड़ा, भुवनेश्वर, और राउरकेला के एसपी उपस्थित थे।

ashok_juneja.jpg

इस दौरान ओडिशा के डीजीपी ने कहा कि अशोक जुनेजा ने पदभार संभालने वाले दिन ही मुझसे कहा कि दोनों राज्यों की इंटर स्टेट को-ऑर्डिनेशन मीटिंग होनी चाहिये। क्योंकि दोनों राज्यों के बीच नक्सली समस्या एवं मादक पदार्थों की तस्करी एक गंभीर मुद्दा है । जिसका हल दोनों राज्यों के समन्वय से ही संभव है। डीजीपी अशोक जुनेजा ने छत्तीसगढ़ में ओडिशा की ओर से होने वाली गांजा तस्करी पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि गांजा तस्करी का रूट और खपत दोनों ही गंभीर समस्या है। इसके समाधान और निगरानी के लिए छत्तीसगढ़ सभी सीमावर्ती जिलों में सीसीटीवी युक्त चेकपोस्ट लगा रहे हैं। बैठक के दौरान पीएचक्यू में एडीजी विवेकानंद सिन्हा, आईजी रायपुर इंटेलीजेंस डॉ आनंद छाबड़ा, आईजी सीआईडी एससी द्विवेदी, एआईजी यूबीएस चौहान उपस्थित रहे ।

नक्सलियों को मार गिराया
डीजीपी अशोक जुनेजा ने कहा कि बस्तर रेंज में नक्सलियों के विरुद्ध लगातार कार्रवाई की जा रही है। विगत वर्षों में छत्तीसगढ़-ओडिशा सीमा में पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने कई नक्सलियों को मार गिराया है। इसके साथ ही नक्सल प्रभावित इलाकों में सड़क निर्माण में बहुत प्रगति हुई है । दोनों राज्यों के मध्य बेहतर समन्वय स्थापित कर नक्सल समस्या शीघ्र खत्म की जा सकती है।

मोबाइल टावर लगाए जाएंगे
डीजीपी ने कहा दोनों राज्यों की सीमा में बहुत से रिमोट इलाके हैं, जहां पर संचार सुविधा के लिए जल्दी ही मोबाइल टावर लग जाएंगे। उन्होंने दोनों राज्यों के मध्य इंटेलीजेंस शेयरिंग, ज्वाइंट ऑपरेशन, ज्वाइंट इंटेरोगेशन पर जोर दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

भारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीPriyanka Chopra Surrogacy baby: तस्लीमा ने वेश्यावृत्ति, बुरका से की सरोगेसी की तुलनाआज 6 बजे इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा, पीएम मोदी ने दी जानकारीसुबह 6 बजे टाइम कीपर के घर EOW का छापा, मकान देख दंग रह गए अफसरबसपा प्रत्याशी के पास सबसे अधिक गाडियाँ, अरिदमन हथियार रखने में आगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.