बीवी दिन में तो पति रात में करता था ये काम, उत्तरप्रदेश से भागने के बाद रायपुर में पकड़ी गई चोरी..

बीवी दिन में तो पति रात में करता था ये काम, उत्तरप्रदेश से भागने के बाद रायपुर में पकड़ी गई चोरी..
बीवी दिन में तो पति रात में करता था ये काम, उत्तरप्रदेश से भागने के बाद रायपुर में पकड़ी गई चोरी..

Chandu Nirmalkar | Updated: 25 Aug 2019, 03:44:10 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

Crime in Raipur: पुलिस ने भारी मशक्त (Husband wife arrested) के बाद शातिर पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया।

रायपुर. बीवी दिन में घूम-घूम कर कॉलोनियों की रेकी करती थी तो वहीं पति रात में अपने दोस्त के साथ वारदात को अंजाम (Crime in Raipur) देता था। बंटी-बबली फिल्म की तरह पति और पत्नी ने उत्तरप्रदेश (Crime in Uttar Pradesh) में और रायपुर, दुर्ग में कई जगहों में वारदात को अंजाम दिया है। आखिरकार पुलिस ने भारी मशक्त (Husband wife arrested) के बाद शातिर पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया।

जानिए ये मामला

 

arrsted

बनारस यूनिवर्सिटी से साइंस ग्रेजुएट (बीएससी) गिरजेश सिंह (39) ने रायपुर की श्यामली सिंह (29) से ब्याह रचाया। (crime news) इसके बाद दोनों ने मिलकर रायपुर और दुर्ग में जगह बदल-बदलकर दो दर्जन लोगों को अपना शिकार बनाया। गिरजेश अपनी पत्नी श्यामली के साथ संभ्रांत परिवार की तरह किराए पर मकान लेकर रहता था। (Chhattisgarh crime) इसके बाद श्यामली शिकार की तलाश में रैकी करती। फिर गिरजेश अपने दोस्त रविशंकर मौर्य (26) के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम देता। (Chhattisgarh police) गिरजेश व उसकी पत्नी ने पूछताछ में बनारस, रायपुर और दुर्ग में 29 चोरी की घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया है।

किराए के मकान में जहां रहता उसी क्षेत्र करता था चोरी
एसएसपी रोहित झा ने प्रेस कांन्फ्रेंस में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी शातिर हैं और जगह बदल-बदलकर घटनाओं का अंजाम देते हैं। इससे पहले वह आमानाका रायपुर में रहता था। रायपुर छोड़कर एक साल से यहां सुभाष नगर दुर्ग में किराए का मकान लेकर रह रहा था। आरोपी जिस क्षेत्र में रहता उसी क्षेत्र के आसपास के मकानों में चोरी करता।

1.10 लाख नकदी जब्त
आरोपियों से चोरी के एक एलइडी सीडी प्लेयर, साड़ी, सूटकेश, गैस सिलेण्डर आयरन, घड़ी, सोने व चांदी के जेवरात के साथ 1.10 लाख नगदी जब्त किया गया है।

आरोपी रविशंकर को वाराणसी से बुलाया था
झा ने बताया कि आरोपी गिरजेश पूरे दिन घर में रहता केवल चोरी करने के लिए ही बाहर निकलता था। पत्नी श्यामली घरों में काम मांगने की आड़ में रैकी करती थी। इस दौरान व सूने घर की जानकारी जुटाती थी। सूने घर का पता चलते ही गिरजेश अपने दोस्त रविशंकर को बुला लेता था और दोनों मिलकर चोरी की घटना को अंजाम देते थे। रविशंकर भी करीब सालभर पहले से वाराणसी से दुर्ग आकर रह रहा था।

चोरी कर छत से कूदते घायल हुआ और पकड़ा गया
आरोपी गिरजेश अपने साथी के साथ सुभाष नगर निवासी व्याख्याता संगीता बड़वाइक (50) के सूने घर में ताला तोड़कर चोरी की नीयत से घुसे थे। इस दौरान मकान मालकिन अचानक वहां पहुंच गई। पकड़े जाने के भय से दोनों ने छत से छलांग लगा दी। छत से छलांग लगाने के दौरान गिरजेश सिंह का पैर चोटिल हो गया और वह पकड़ा गया। महिला ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

दिन में भी चोरी करने में माहिर
पुलिस ने बताया गिरजेश सिंह पढ़ा लिखा व चोरी करने का आदी है। चोरी करने का उसका अपना अलग तरीका है। आरोपी ताला तोडऩे के लिए लोहे का कटर और मूसल हमेशा अपने साथ रखता। सूने घर में वह हमेशा पीछे के रास्ते से ही घुसता था। आरोपी रात में ही नहीं दिन के उजाले में भी घटना को सफाई से अंजाम देने में माहिर है।

बनारस में खपाता चोरी का माल
पुलिस ने बताया कि चोरी के बाद पकड़ा ना जाए इसलिए वह खास ऐहतियात भी बरतता था। इसके लिए वह चोरी के जेवरात को बेचने बनारस जाता। सराफा व्यापारी के पास जेवरात को बेचने के बाद नगद लेकर वह वापस आ जाता। जेवरात व सामान बेचने से मिले रुपए से वह घर चलाता। पुलिस आरोपी के बेचे जेवरातों की रिकवरी की तैयारी कर रही है।

पत्नी को छोड़ किया प्रेम विवाह
आरोपी गिरजेश के खिलाफ चोरी के अलावा प्रताडऩा का मामला दर्ज है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने रायपुर की एक लड़की को पत्नी बनाकर रखा था। दोनों के बीच विवाद होने पर महिला ने थाना में प्रताडऩा की शिकायत की थी। इसके बाद वह अपनी पत्नी को छोड़ श्यामली से प्रेम विवाह कर दुर्ग आ गया था।

जाने कहां कितनी चोरी की
डीडी नगर रायपुर- 04
पुरानी बस्ती रायपुर- 09
टिकरापारा रायपुर- 02
कोतवाली रायपुर- 01
सिरपुरी बनारस- 02
बनारस केंट- 01
पद्मनाभपुर दुर्ग 05

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned