4 जिलों में यस बैंक ग्राहकों के करोड़ों फंसे, 13 शाखाओं में पैसे लेने लगी रही भीड़

ग्राहकों ने पैसा जमा करना किया बंद, मची खलबली

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 07 Mar 2020, 06:18 PM IST

रायपुर. प्रदेश के 4 जिलों में यस बैंकों के 13 शाखाओं में शुक्रवार को पैसे निकालने के लिए लोगों की काफी भीड़ लगी रही। बैंक से एक दिन के भीतर सिर्फ 50 हजार रूपए निकालने की लिमिट के दिशा-निर्देश के बाद ग्राहकों में खलबली मची हुई है। राजधानी रायपुर में ही यस बैंक के 9 शाखाएं संचालित हैं।
राजधानी की 9 शाखाओं और अन्य जिलों में 4 शाखाओं में लोगों ने अपनी जमा राशि निकालने के लिए बैंक अधिकारियों से बात की, लेकिन यहां अधिकारियों ने 50 हजार से अधिक राशि नहीं निकालने के नियमों का हवाला देते हुए ग्राहकों को किनारे कर दिया गया। यहां कई ग्राहक बैंकों में राशि जमा करने पहुंचे थे, लेकिन जब उन्हें बैंकों की स्थिति के बारे में पता चला तो उन्होंने रुपए जमा नहीं किए।
राजधानी के सिविल लाइन स्थित यस बैंक की शाखा में ग्राहकों और अधिकारियों के साथ काफी बहस हुई। ग्राहकों ने आरबीआई की गाइडलाइन का हवाला देते हुए 5 लाख रुपए तक की राशि निकालने की बात कहीं तो बैंक अधिकारियों ने कहा कि अभी तक इस मामले में आरबीआई से दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं। इसलिए अभी सिर्फ अधिकतम सिर्फ 50 हजार रूपए की ही राशि निकाल सकते हैं।
राजधानी के इन इलाकों में शाखाएं
पंडरी, मोवा, सिविल लाइन, तेलघानी नाका, छोटा पारा, एमजी रोड, गुढिय़ारी आदि।
प्रदेश के इन जिलों में शाखाएंं
1. रायपुर
2. दुर्ग (भिलाई)
3. बिलासपुर
4. रायगढ़
10 से ज्यादा एटीएम बंद
राजधानी में 10 से ज्यादा एटीएम बंद हो चुके हैं। इन एटीएम में कैश की किल्लत बीते 15 से 20 दिनों से बनी हुई है। ज्यादातर ग्राहक अब यस बैंक में सिर्फ पैसे निकाल रहे हैं। वित्तीय स्थिति खराब होने की जानकारी मिलने के बाद पैसा जमा करने बंद कर दिया गया है।
अधिकारियों को बात करने किया मना
यस बैंक के आला अधिकारियों से जब इस पूरे मामले पर बात की गई तो उन्होंने बैंक के मुंबई स्थित मुख्यालय का हवाला देते हुए किसी भी प्रकार का बयान देने से मना कर दिया। आला अधिकारी प्रदेश में ग्राहकों द्वारा जमा की जानकारी भी छिपा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक यह राशि करोड़ों में बताई जा रही है।
बैंक प्रबंधन ने ई-मेल में यह लिखा
यस बैंक के कार्पोरेट कम्युनिकेशन विभाग की प्रवक्ता स्वाति सिंह द्वारा पत्रिका को भेजे गए ई-मेल में एडमिनिस्ट्रेटर प्रशांत कुमार ने कहा है कि ग्राहकों को उनके खाते से 50 हजार रुपए तक राशि निकासी की सुविधा दी जा रही है। तीस दिनों की मोहलत समाप्त होने से पहले बैंक को अच्छी तरह से पुनर्जीवित करने के लिए एक समाधान पर काम किया जा रहा है। ग्राहकों के लिए निर्बाध लेनदेन सुनिश्चित करने के लिए बैंक आवश्यक कदम भी उठा रहा है। हम जमाकर्ताओं को आश्वस्त करते हैं कि उनका पैसा सुरक्षित है और घबराने की कोई वजह नहीं है।

यस बैंस, रायपुर क्लस्टर बिजनेस हेड, सर्विस लीडर प्रियदत्त पाणिग्रही ने बताया कि बैंकों की मौजूदा स्थिति के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी देने से मना किया गया है। मुख्यालय से मिल रहे दिशा-निर्देशों का पालन व ग्राहकों को उनके समस्याओं के लिए बैंक शाखाओं में संपर्क करने के निर्देश दिए गए हैं।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned