लापरवाही: जतमई-घटारानी जलप्रपात में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बावजूद उमड़ रही भीड़

जिला प्रशासन ने जिले के धार्मिक, सांस्कृतिक स्थानों को लॉकडाउन के दौरान बंद कर दिया है, बावजूद नियमों की मानिटरिंग नहीं किए जाने से काफी संख्या में लोग जिले के अंदरूनी इलाकों के धार्मिक स्थानों तथा जलप्रपातों तक सपरिवार पहुंच रहे हैं, जो चिंता की बात है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 24 Jul 2020, 06:27 PM IST

बलौदाबाजार. गरियाबंद जिले के जतमई-घटारानी जलप्रपात में बीते दिनों 18 लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बावजूद जिले के जलप्रपातों में लोगों की भीड़ उमड़ रही है जो निश्चित रूप से अपने साथ अपने परिजनों तथा अन्य लोगों की जान को जानबूझकर खतरे में डाल रहे हैं।

जिला प्रशासन ने जिले के धार्मिक, सांस्कृतिक स्थानों को लॉकडाउन के दौरान बंद कर दिया है, बावजूद नियमों की मानिटरिंग नहीं किए जाने से काफी संख्या में लोग जिले के अंदरूनी इलाकों के धार्मिक स्थानों तथा जलप्रपातों तक सपरिवार पहुंच रहे हैं, जो चिंता की बात है। जिले में बीते पखवाड़े भर से बारिश होते ही जिले के बरसाती जलप्रपातों, नदी, नालों का शबाब इन दिनों भरपूर उफान पर है। बीते दिनों बारिश होने की वजह से जिले के छोटे-बड़े जलप्रपातों में जीवन मानो लौट आया है। वहीं क्षेत्र की प्रमुख नदियों महानदी, शिवनाथ नदी भी भरपूर उफान पर है।

जलप्रपातों में भरपूर पानी होने से कोरोना संक्रमण को दरकिनार करते हुए नियमों की जानबूझकर परवाह ना कर प्रतिदिन सैकड़ों लोग सपरिवार इन जलप्रपातों को देखने पहुंच रहे हैं। वहीं अति उत्साह में कई युवा अपनी जान जोखिम में डालने से भी नहीं हिचक रहे हैं, जिससे प्रतिदिन दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है।

गौरतलब हो कि बीते दिनों गरियाबंद जिले के जतमई-घटरानी जलप्रपात में भी इसी प्रकार सैकड़ों लोग पहुंच रहे थे, जिसके बाद एक ही परिवार के 18 लोगों को कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। बावजूद इसके जिले के कई लोग जानबूझकर जलप्रपातों तक पहुंचकर अपने साथ दूसरों की जान को भी जोखिम में डाल रहे हैं। जिला प्रशासन तथा पुलिस प्रशासन द्वारा नदी-नालों के साथ जिले के प्रमुख जलप्रपातों के आसपास लोगों के जाने पर कड़ाई से प्रतिबंध लगाए जाने की आवश्यकता है।

 

जलप्रपात और मंदिरों में उमड़ रही भीड़

बीते पखवाड़े भर के दौरान जिले में हो रही बारिश से जलप्रपातों में मानों जीवन फिर से लौट आया हो, लेकिन जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या से लोग पूरी तरह से लापरवाह नजर आ रहे हैं। जिले के कसडोल ब्लॉक के आमाझरिया, सिद्घखोल जलप्रपात के साथ जिले के अन्य जलप्रपातों, सावन माह में अंदरूनी इलाकों के शिव मंदिरों तथा बारनवापारा अभ्यारण्य के बाहरी इलाकों में लोग सपरिवार पिकनिक मनाने जुट रहे हैं तथा कोरोना को सीधे-सीधे न्यौता दे रहे हैं। जिस पर जिला प्रशासन को कड़ाई बरते जाने की अत्यंत आवश्यकता है। कोरोना काल के दौरान कुछ लोगों की लापरवाही बाकी लोगों के लिए भारी पड़ सकती है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned