बस्तर में बाढ़ की वजह से सूने हुए सीआरपीएफ के कैंप

हथियारों को माओवादियों से बचाने सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट किए
पानी उतरने के बाद भी कुछ सप्ताह होगी मुश्किल

By: VIKAS MISHRA

Updated: 25 Aug 2020, 07:18 PM IST

रायपुर . केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के बीजापुर और सुकमा स्थित आधा दर्जन से अधिक कैंपों में सन्नाटा पसरा हुआ है। लगातार हो रही बारिश को देखते हुए जवानों के साथ ही राशन,दवाईयां और हथियार को सुरक्षित स्थानों में भेज दिया गया है। वहीं पूरे हालात पर लगातार नजर रखी जा रही है। बताया जाता है कि वहीं बीजापुर के मिनगाचल स्थित 228-229वी बटालियन, सुकमा टाउन स्थित 2 री बटालियन, धर्मपेंटा, किस्टाराम थाना के आसपास के कैंप, कोमला, नैमेड़ भट्टीपारा और भैरमगढ़ तहसील और नेलसनार, जांगला, बीजापुर और भोपालपटनम में बनाए गए कैंप और चौकियों को खाली करवाया गया है। सीआरपीएफ के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कुछ कैंपों में बाढ़ का पानी उतरने के बाद भी स्थिति रहने लायक नहीं है। कीचड़ और गंदा पानी भरा होने के कारण जहरीले जीव-जंतु भी देखने को मिले है। तेज धूप निकलने के बाद ही वहां की स्थिति सामान्य होगी। इसमें महीनेभर से अधिक का समय लगेगा। बता दें कि 10 दिन पहले लगातार हुई बारिश के चलते बस्तर के शबरी नदी, इंद्रावती, शंकनी-डंकनी, कोलाव, बारूनदी, धर्मपेंटा, मुकरम और मल्लेवागु नाला के साथ ही सीमा से सटे हुए नदियों में लगातार पानी बढ़ रहा है।
रास्ते हुए बंद
पुसवाल से ओडिशा जाने वाले बारूनदी, छिंदगढ़ से कांजीपानी, गादीरास से कोंडरे, जीरमपाल, फुलबगड़ी, सुकमा से मलकानगिरी ओडिसा मार्ग में शबरी नदी, केरलापाल से मिसमा मार्ग, दुब्बाटोटा राष्ट्रीय राजमार्ग, कोंटा से आंध्रप्रदेश, मार्ग में बने पुल में पानी भरने से रास्ता बंद कर दिया गया है। बताया जाता है कि सुकमा और बीजापुर स्थित सीआरपीएफ और नारायणपुर के अंदरूनी इलाकों के कैंपों में तैनात जवानों को सुरक्षित स्थानों पर जाने कहा गया है। बता दें कि बस्तर में पिछले कई वर्षो में पहली बार इतनी बारिश हुई है। इससे सभी नदी-नाले में उफान आ गया है।

लगातार हुई भारी बारिश के बाद बहुत से कैंपों में अभी तक पानी भरा हुआ है। वहीं खाली पड़े कैंपों में सन्नाटा पसरने से जहरीले-जीव-जंतु विचरण कर रहे है। स्थिति सामान्य होने में अभी समय लगेगा।
विधानचंद्र पात्रा, सीआरपीएफ प्रवक्ता

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned