ऑनलाइन ठगी के शिकार होने वालों को हर महीने तीन लाख लौटा रहा साइबर सेल

- पीड़ितों को ठगी के 12 लाख से अधिक राशि वापस दिलाई।
- हेल्पलाइन नंबर 155260 मिल रही मदद

By: Bhupesh Tripathi

Published: 02 May 2021, 05:41 PM IST

रायपुर @ नारद योगी। ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इससे लोगों में जागरूकता भी आने लगी है। ऐसे लोगों की साइबर सेल भी मदद कर पा रही है। ठगी के शिकार लोगों को उनके लाखों रुपए साइबर सेल वापस करवा रही है। झांसा देकर जो राशि ठगों ने पीड़ितों के बैंक खाते से निकाल लिए थे, उन राशियों को साइबर सेल की टीम उन्हें वापस करा रही है।

READ MORE : CG की 2.50 करोड़ आबादी को सांसें देना वाला जिला बना दुर्ग, BSP ने बढ़ाया उत्पादन अब 11 निजी टैंकर्स से हो रही ऑक्सीजन सप्लाई

पिछले तीन माह में साइबर सेल की टीम ने ऑनलाइन ठगी के शिकार लोगों को उनके 12 लाख रुपए से ज्यादा राशि वापस कराया है। जनवरी से मार्च 2021 तक सायबर सेल में ऑनलाइन ठगी के 101 मामले सही समय पर पहुंचे। उनकी शिकायतों पर सायबर सेल की टीम ने तत्काल एक्शन लिया और ठगी के 12 लाख 34 हजार 095 रुपए उन्हें वापस कराया। औसतन हर माह ऑनलाइन ठगी के शिकार हो चुके लोगों को उनके 3 लाख रुपए से अधिक राशि वापस कराया गया है।

ये ऐसे मामले हैं, जो ठगी का शिकार होने के तत्काल बाद साइबर सेल के पहुंचे। इसमें साइबर सेल की टीम ने तत्काल बैंक अधिकारियों के माध्यम से ठगों के खातों को ब्लॉक कराया। इससे ठग उन राशियों का उपयोग नहीं कर पाए। बाद में उस राशि को पीड़ितों को रिफंड कर दिया गया। साइबर सेल ने हेल्पलाइन नंबर 155260 नंबर जारी किया है, ताकि लोग तत्काल शिकायत कर सकें। इससे 24 घंटे के भीतर एफआईआर होगा। साथ ही उनके पैसे भी वापस होंगे।

READ MORE : छत्तीसगढ़ में 1 मई से 18 + वालों को कोरोना का टीका, अंत्योदय राशन कार्ड धारियों को मिली प्राथमिकता

तत्काल शिकायत करने से मिलता है फायदा
ऑनलाइन ठगी का शिकार होने वाले अधिकांश लोग तीन-चार दिन बाद पुलिस के पास शिकायत करने जाते हैं। अगर ठगी होने के 8 से 10 घंटे के भीतर भी सायबर सेल या पुलिस थानों में जाते हैं, तो ठगी की राशि वापस होने की काफी गुंजाइश रहती है। इस दौरान सायबर सेल की टीम बैंक अधिकारियों से संपर्क स्थापित करके बैंक खातों को ब्लॉक करवा सकती है।

हेल्पलाइन नंबर जारी
ऑनलाइन आर्थिक धोखाधड़ी के मामलों को देखते हुए सायबर सेल की ओर से हेल्पलाइन नंबर 155260 जारी किया गया है। ठगी होते ही पीड़ित इसमें अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायत दर्ज होते ही सायबर सेल की टीम ठगी की राशि वापस कराने का प्रयास करेगी। हेल्पलाइन नंबर में सबसे पहला मामला राजेंद्र नगर निवासी पायल जैन का आया। पायल से 30 अप्रैल को 2 लाख 14 हजार रुपए से अधिक की ऑनलाइन ठगी हो गई थी। पायल ने हेल्पलाइन नंबर 155260 में कॉल किया। इस पर सायबर सेल ने तत्काल संबंधित खातों को ब्लॉक कराया और 14 हजार रुपए वापस कराया। बाकी के 2 लाख रुपए को भी आईडीएफसी फस्ट बैंक में फ्रीज करवा दिया है। ठगी की राशि का इस्तेमाल ठग नहीं कर पाया है। इस तरह ठगी की राशि वापस हो सकती है। हेल्पलाइन नंबर के जरिए घर बैठे एफआईआर भी करवा सकते हैं।

READ MORE : गूगल से कस्टमर केयर नंबर निकालना पड़ा महंगा, पैसा वापस करने के नाम पर कर ली ठगी

सायबर ठगी को रोकने के लिए लोगों को जागरूक करने पुलिस हर संभव प्रयास कर रही है। साथ ही पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए भी सायबर सेल की टीम कार्य कर रही है। सायबर फ्रॉड के शिकार होने वालों को जल्द से जल्द मदद पहुंचाने के उद्देश्य से हेल्पलाइन नंबर 155260 शुरू किया गया है। ठगी होते ही पीड़ितों को हेल्पलाइन नंबर में शिकायत दर्ज कराना चाहिए।
- अजय यादव, एसएसपी, रायपुर

READ MORE : अस्पताल ने जिंदा भेज दिया था मुक्तिधाम, डॉक्टर ने बताया चल रही है सांसें

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned