एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर बुजुर्ग दंपति से के खाते से 2 लाख रुपए पार

- टिकरापारा पुलिस ने दर्ज किया मामला, अज्ञात आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 01 Oct 2020, 08:15 PM IST

रायपुर। टिकरापारा इलाके में रहने वाले एक बुजुर्ग दंपती ऑनलाइन ठगी का शिकार हो गए। अज्ञात ठगों ने उनके एटीएम कार्ड का क्लोन बना लिया। इसके बाद उनके बैंक खाते से राशि का आहरण करते रहे। आरोपियों ने 2 लाख से अधिक की राशि निकाली। मामले का खुलासा तब हुआ, जब पीडि़त ने अपने बेटे को एटीएम से राशि निकालने के लिए भेजा। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात ठगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक भाठागांव निवासी रिटायर्ड कर्मचारी कुलदीप सिंह का उनकी पत्नी के साथ एसबीआई में ज्वाइंट खाता है। 27 नवंबर 2019 से लेकर 9 जनवरी 2020 तक उनके बैंक खाते से किसी ने एटीएम के जरिए अलग- अलग दिन 2 लाख 83 हजार 100 रुपए का आहरण कर लिया। आरोपियों ने उनके खाते से 500 से लेकर 10 हजार रुपए तक का आहरण किया है। इसकी जानकारी बुजुर्ग को नहीं हो पाई थी। उनके मोबाइल में राशि आहरण का कोई मैसेज नहीं आया और न ही उनसे किसी ने ओटीपी पूछा। एक दिन उन्होंने अपने बेटे को एटीएम जाकर राशि निकालने के लिए कहा। इसके बाद उन्हें पता चला कि उनके बैंक खाते में पैसा नहीं है। इसकी शिकायत उन्होंने बैंक प्रबंधन से की। और वहां से स्टेटमेंट निकाला। उसमें एटीएम के जरिए पैसा निकालने का खुलासा हुआ। इसकी शिकायत उन्होंने टिकरापारा थाने में की। पुलिस ने अज्ञात ठगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर विवेचना में लिया है।

एटीएम क्लोनिंग की आशंका
पुलिस मामले को एटीएम क्लोनिंग मान रही है। पीडि़त के एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर किसी ने उनके खाते से राशि का आहरण कर लिया है। फिलहाल पुलिस इसी बिंदु से मामले की जांच कर रही है। एटीएम क्लोनिंग में असली एटीएम कार्ड का डाटा चुराकर नकली कार्ड बनाया जाता है। इसके बाद नकली एटीएम के जरिए राशि का आहरण किया जाता है। इस तरह के कई मामले रायपुर में सामने आ चुके हैं।

स्कीमर लगाते हैं ठग
एटीएम कार्ड का क्लोन बनाने के लिए ठग एटीएम मशीन में स्कीमर लगाते हैं। जब ग्राहक अपना एटीएम कार्ड डालकर स्वाइप करता है, तो वहां लगे स्कीमर उसका पूरा डाटा कॉपी कर लेता है। इसके बाद ठग स्कीमर को निकालकर ले जाते हैं। और उसके डाटा से नए एटीएम कार्ड तैयार कर लेते हैं। इसके जरिए फिर पैसा निकालते रहते हैं। और असली एटीएम कार्ड वाले को इसकी जानकारी भी नहीं हो पाती।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned