'हुनर हाट' में छत्तीसगढ़ के दस्तकार, शिल्पकार और कारीगर स्वदेशी उत्पादों के साथ शामिल हुए, 7.50 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

  1. दिल्ली में 26वें हुनर हाट का हुआ आगाज
  2. हुनर हाट "वोकल फॉर लोकल" थीम के साथ 1 मार्च तक चलेगा

By: ashutosh kumar

Updated: 23 Feb 2021, 08:14 PM IST

छत्तीसगढ़ समेत देश के 31 से अधिक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से 600 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार, कारीगर शानदार स्वदेशी उत्पादों के साथ शामिल हुए

रायपुर. अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 10 दिवसीय 26वें "हुनर हाट" का शुभारंभ किया गया। इस हुनर हाट का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उद्घाटन किया। 20 फरवरी से आगामी 1 मार्च तक चलने वाला हुनर हाट 'वोकल फॉर लोकल' की थीम पर आधारित है। इस हुनर हाट ने देशभर के कारीगरों, शिल्पकारों और दस्तकारों के हुनर को एक नई ऊंचाइयां देने का कार्य किया है।
हुनर हाट में दस्तकार और शिल्पकार द्वारा बनाए गए लकड़ी के रंग बिरंगे उत्तम खिलौने बच्चों को बहुत ही आकर्षित कर रहे हैं। वहीं हुनर हाट में आ रहे हैं भारी संख्या में लोग हस्तनिर्मित और दुर्लभ उत्पादों के सराहना कर रहे हैं। हुनर हाट में प्रवेश नि:शुल्क है। आप सुबह 10 बजे से रात्रि 10 बजे तक इस हुनर हाट का आनंद ले सकते हैं।

  • दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित है हुनर हाट

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित हुनर हाट में छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्यप्रदेश, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड, ओडिशा, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल सहित देश के 31 से अधिक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से 600 से अधिक दस्तकार, शिल्पकार, कारीगर शानदार स्वदेशी उत्पादों के साथ शामिल हो रहे हैं।

'हुनर हाट' में छत्तीसगढ़ के दस्तकार, शिल्पकार और कारीगर स्वदेशी उत्पादों के साथ शामिल हुए, 7.50 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार
  • पारंपरिक लजीज पकवानों का उठा सकेंगे लुत्फ

"हुनर हाट में एक ही छत के नीचे देश के कोने-कोने के स्वदेशी हस्तनिर्मित दुर्लभ उत्पाद देखने-खरीदने को मिलेंगे।" हुनर हाट के 'बावर्चीखाने' में देश के सभी प्रांतों-क्षेत्रों के पारंपरिक लजीज पकवानों का यहां आने वाले लोग लुत्फ उठा सकेंगे। साथ ही देश के प्रसिद्ध कलाकारों के विभिन्न सांस्कृतिक, गीत-संगीत के शानदार कार्यक्रमों का आनंद भी ले सकेंगे।

  • 5 लाख से ज्यादा दस्तकारों, शिल्पकारों और कलाकारों को मिला रोजगार
    हुनर हाट में आने वाले लोग एक जगह पर भारत की "अनेकता में एकता" की ताकत का एहसास कर पाएंगे। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा देशभर के दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादनों को लोगों तक पहुंचाने एवं प्रोत्साहित करने का 'परफेक्ट प्लेटफार्म' हुनर हाट के जरिये अब तक 5 लाख से ज्यादा दस्तकारों, शिल्पकारों, कलाकारों को रोजगार और रोजगार के मौकों से जोड़ा गया है।
'हुनर हाट' में छत्तीसगढ़ के दस्तकार, शिल्पकार और कारीगर स्वदेशी उत्पादों के साथ शामिल हुए, 7.50 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार
  • हुनर हाट का लक्ष्य देश की 75वीं वर्षगांठ तक 7.50 लाख को रोजगार देना है
  • आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के साथ 75 हुनर हाट के जरिये 7 लाख 50 हजार दस्तकारों, शिल्पकारों को रोजगार के मौकों से जोड़ा जाएगा। हुनर हाट में ड्राई फ्लावर्स, बेंत, बांस, जूट के उत्पाद, लकड़ी, मिट्टी से बने स्वदेशी खिलौने, ब्लू आर्ट पॉटरी, पश्मीना शॉल, खादी के सामान, बनारसी सिल्क, वुडेन फर्नीचर, चिकनकारी एम्ब्रॉइडरी, चंदेरी सिल्क, लाख की चूडिय़ां, राजस्थानी आभूषण उत्पाद उपलब्ध हैं।
ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned