कोर सेक्टर में धूम, कपड़ा बाजार ही 350 करोड़ का, जमीन-मकान भी जमकर बिके

अक्टूबर में कमबैक : राजधानी में चालू माह में 950 करोड़ के करीब संभावित कारोबार

By: VIKAS MISHRA

Published: 29 Oct 2020, 06:44 PM IST

रायपुर. अक्टूबर महीने में बाजार ने पुरानी ताकत के साथ कमबैक किया है। थोक कारोबारियों के मुताबिक कपड़ा बाजार में ही कारोबार 330 से 350 करोड़ तक पहुंच गया। पंडरी स्थित सबसे बड़ा कपड़ा बाजार इन दिनों गुलजार है। 6 महीने की मंदी का चक्रव्यूह अब टूट चुका है। बाजार के दूसरे सेक्टर की बात करें तो राजधानी में प्रदेशभर के थोक कारोबारी और ग्राहक खरीदारी के लिए पहुंच रहे हैं। रियल एस्टेट, ऑटोमोबाइल्स और हर बार की तरह सराफा में खरीदारी ने सबको आश्चर्यचकित किया है।
बाजार के कोर सेक्टर में अग्रणी पंक्ति पर काबिज रियल एस्टेट में भी कारोबार ने बेहतर रहा। यहां अक्टूबर महीने में राजधानी में कुल व्यवसाय न्यूनतम 250 से 260 करोड़ के करीब बताया जा रहा है। संभावित कारोबार के मुताबिक अक्टूबर महीने में राजधानी में 950 करोड़ के करीब धनवर्षा हुई, जिसमें 80 फीसदी कारोबार नवरात्रि और दशहरे के दिन में हुआ है। राज्य सरकार के मुताबिक ऑटोमोबाइल्स सेक्टर में मोटर कार, ट्रैक्टर और अन्य वाहनों की खरीदारी पिछली नवरात्रि से ज्यादा इस साल हुई है।
दिवाली तक कपड़ा बाजार रविवार को भी ओपन
द रायपुर थोक कपड़ा व्यापारी संघ के अध्यक्ष चंदर विधानी ने बताया कि पंडरी कपड़ा बाजार में मंदी की चेन टूट चुकी है। अक्टूबर महीने में संभावित बाजार 350 करोड़ के करीब रहा। 6 महीने पहले कपड़ा बाजार की बुरी स्थिति थी। थोक कपड़ा व्यापारी संघ ने निर्णय लिया है कि दिवाली तक कपड़ा बाजार रविवार को भी संचालित किया जाएगा। शादियों के लिए खरीदारी अभी से शुरू हो चुकी है। लॉकडाउन की वजह से रूकी हजारों शादियां अब आने वाले महीने से शुरू हो रही है।
संक्रमण कम, इसलिए बाहरी जिलों से व्यापारी की संख्या बढ़ी
कोविड-19 के मामलों में कमी और संक्रमण की रफ्तार कम होने के बाद दूसरे जिलों के कारोबारियों की आमद राजधानी के कपड़ा, सराफा, मोबाइल, ऑटोमोबाइल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स व अन्य होलसेल मार्केट में बढ़ चुकी है। रविभवन व्यापारी संघ के अध्यक्ष जय नानवानी ने बताया कि दो-तीन महीने पहले नजदीक जिलों के कारोबारी खरीदारी करने रायपुर आने से घबराते थे, जो कि अब सामान्य होते जा रहा है। इसका प्रभाव नवंबर महीने के व्यवसाय और ज्यादा दिखेगा।

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned