डायटीशियन बता रहीं हैं नवरात्रि व्रत की 5 गलतियां जो बढ़ा देती हैं वजन

नवरात्रि के त्योहार में आमतौर पर सभी लोग 9 दिनों का व्रत रखते हैं, जो कि न केवल श्रद्धा और भक्ति को बढ़ाता है बल्कि, हमारे शरीर को भी स्वस्थ रखता है। इन दिनों में हम अपने खाने पे नियंत्रण रख कर मन को शांत रखने के साथ-साथ शरीर को भी स्वस्थ रख सकते है।

 

By: lalit sahu

Updated: 20 Oct 2020, 07:48 PM IST

नवरात्रि व्रत में जो भोजन लोग खाते हैं, वह सबसे अच्छा और हेल्दी होता है। अगर सही तरीके से खाया जाए। तो इस नवरात्रि आपकी थाली में वो सारे भोजन होने चाहिए जो आपको हेल्दी रखने और वेट लॉस में मदद करते हैं।

कुछ लोग व्रत इसलिए भी रखते है क्योंकि वो बॉडी को डीटॉक्स करना चाहते हैं। कुछ लोग वजन कम करने के लिए भी व्रत रखते हैं जैसे कि लोग इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं। जिसमें उन्हें कुछ घंटे या कुछ दिन का व्रत रखना होता है। लेकिन अक्सर लोग नवरात्रि व्रत में खाने वाली डाइट में ऐसी गलतियां करते हैं, जो वजन कम करने की जगह वजन को बढ़ा देती हैं।
तो कही आप भी ऐसी गलतियां तो नहीं कर रहीं! अगर हां, तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये आपके वजन को बढ़ाने के साथ-साथ आपको बीमारियों की तरफ भी धकेलती हैं।

1. खाने में माइक्रोन्यूट्रीएंट्स की कमी
हम अक्सर व्रत के खाने में माइक्रोन्यूट्रीएंट्स को नजऱंदाज कर देते हैं। यह सोच कर कि हमें व्रत में केवल एनर्जी की ही जरूरत है। साबूदाना, कुट्टू का हलवा ये सब ही खाते है और फल और सब्जियों को भूल जाते हैं। जबकि फल और सब्जियां व्रत में अच्छी मात्रा मे खाना चाहिए। इनसे हमें फाइबर, विटामिंस और मिनरल्स मिलते हैं। फल और सब्जियों के सेवन से इन जरूरी पोषक तत्‍वों की कमी नहीं होती। जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

2. देशी घी और तेल का अत्यधिक सेवन
अक्सर लोग व्रत में रोज की अपेक्षा ज्यादा तेल और घी का सेवन करने लगते हैं। जो भी फलाहार बनता है, वो देशी घी, मूंगफली के तेल में या अन्य किसी तेल में बनता है। लोग कुट्टू की पूड़ी, पकौड़ी, चिप्स, फ्रेंच फ्राइस आदि से ही पेट भरने लगते हैं। जिससे तेल व घी का सेवन ज्यादा हो जाता है।

हेल्दी ऑप्शन के लिए आप कुट्टू की रोटी, साबूदाना खिचड़ी, समक के चावल की खिचड़ी, मखाना आलू टिक्की, राजगीर पनीर परांठा, लस्सी, दही-आलू आदि खा सकते हैं। इनमें घी या तेल बहुत कम लगता है। जिससे आप एक्स्ट्रा फैट नहीं बढ़ाएंगी।

3. शुगर या मीठे व्यंजनों का अत्यधिक सेवन
आम दिनों में वेट लॉस के लिए जो लोग शुगर या मीठा कम खाते हैं अक्सर वो व्रत में जाने-अनजाने शुगर की खपत ज्यादा करने लगते हैं। व्रत में हलवा, खीर, लड्डू जैसे व्यंजनों में चीनी बहुत अधिक मात्रा में इस्तेमाल होती है।
यदि आप वेट कॉन्शियस हैं, तो आपको शुगर की मात्रा बहुत कम लेनी चाहिए। शुगर के हेल्दी विकल्पों में आप गुड़, शहद, खजूर आदि का इस्तेमाल कर सकती हैं, लेकिन सीमित मात्रा में। कुछ व्यंजनों को बिना शुगर के खाने की आदत डालें- जैसे खीर। क्योंकि उसमें दूध की मिठास से ही मीठापन आ जाता है।

4. पानी की कमी
चाहें आप फास्ट रख रही हो या नहीं, बॉडी को हाइड्रेट रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। लेकिन लोग अक्सर व्रत में पानी बहुत ही कम पीते है। यही कारण है आपको ज्यादा भूख लगने लगती है। अच्छी मात्रा में पानी पीने से स्किन ग्लो करती है, बॉडी डीटॉक्स होती है और हम बिन्ज ईटिंग से बचे रहते है। यदि आप वेट लॉस को आसान करना चाहती हैं तो बॉडी को हाइड्रेट रखिए।

5. बाहर के पैकेज्ड फूड्स का इस्तेमाल
व्रत में ज़्यादातर लोग बाहर का पैकेट वाला चिप्स, तला हुआ मखाना, व्रत के नमकीन पापड़, जैसी चीज़ें खाने लगते हैं। जो के आपका वेट बढ़ा सकती हैं। कभी-कभी इनमें प्रयुक्त अनहेल्दी ऑयल कई बीमारियों का भी कारण बन जाते हैं। यदि आप चाहती हैं कि आप इस नवरात्रि व्रत से वेट लॉस करें या वेट मैनेज करें तो घर का बना हुआ फूड ही लें।

यह भी रखें ध्‍यान
लोग अक्सर दिनभर व्रत रखकर रात में एक बार खाते हैं, जिससे वो पोर्शन साइज का ध्यान नहीं रख पाते और ज्यादा भोजन कर लेते हैं। इस पर ध्यान देना बहुत जरूरी है कि आप कितनी मात्रा में कोई भी चीज खा रही हैं और ये बात सिर्फ व्रत में ही नहीं, बल्कि सामान्य दिनों में भी लागू होती है।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned