scriptDisbalance of Uric Acid may cause major disease | Uric Acid: शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना हो सकता है बड़े बिमारियों का संकेत, जानिए कैसे करें कन्ट्रोल | Patrika News

Uric Acid: शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना हो सकता है बड़े बिमारियों का संकेत, जानिए कैसे करें कन्ट्रोल

यूरिक एसिड का बढ़ना एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से सबसे ज्यादा परेशानी पैरों में होती है। यूरिक एसिड बढ़ने से चलना-फिरना मुश्किल हो जाता है, पैरों में गांठ और सूजन भी होने लगती है। यूरिक एसिड ब्लड में पाया जाने वाला एक रसायन है जो हर किसी की बॉडी में बनता है और किडनी उसे फिल्टर करके बॉडी से बाहर निकाल देती है।

रायपुर

Published: May 02, 2022 10:25:39 pm

रायपुर। यूरिक एसिड का बढ़ना एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से सबसे ज्यादा परेशानी पैरों में होती है। यूरिक एसिड बढ़ने से चलना-फिरना मुश्किल हो जाता है, पैरों में गांठ और सूजन भी अहोने लगती है। यूरिक एसिड ब्लड में पाया जाने वाला एक रसायन है जो हर किसी की बॉडी में बनता है और किडनी उसे फिल्टर करके बॉडी से बाहर निकाल देती है। जब बॉडी में यूरिन की मात्रा अधिक होती है और किडनी उसे फिल्टर करके बॉडी से बाहर नहीं निकाल पाती तो ये एसिड जोड़ों में जमा होने लगता है और बेहद तकलीफ देता है।

acid.jpg

यूरिक एसिड बढ़ने का सबसे ज्यादा असर पैरों पर होता है। यूरिक एसिड बढ़ने से पैरों में अकड़न, जोड़ों में दर्द और सूजन की सबसे ज्यादा परेशानी होती है। यूरिक एसिड बढ़ने पर ये ज्वाइंट को जाम कर देता है, इसके बढ़ने से पैरों के टखनों में सूजन आ जाती है। आयुर्वेद के मुताबकि खट्टे फलों का अधिक सेवन करने से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए सबसे जरूरी है डाइट पर कंट्रोल करें और व्यायाम करें। आप रेगुलर एक्सरसाइज और डाइट से यूरिक एसिड को कंट्रोल कर सकते हैं।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण
एक्सपर्ट्स कहते हैं कि शुरुआत में Uric Acid के बढ़ने का पता नहीं लग पाता। ज्यादातर लोगों को इस बात की जानकारी भी नहीं होती कि यूरिक एसिड के बढ़ने को कैसे पहचानें।

कुछ ऐसे लक्षण हैं, जिन्हें देखकर आप इसके बढ़ने की पहचान कर सकते हैं -

1. जोड़ों में दर्द होना.
2. उठने-बैठने में परेशानी होना.
3. उंगलियों में सूजन आना
4. जोड़ों में गांठ की शिकायत
5. उंगलियों में चुभन वाला दर्द

क्या है यूरिक एसिड जमा होने के कारण
1. कुछ प्रकार के आहार के कारण शरीर में यूरिक एसिड इकट्ठा हो सकता है
2. कुछ मामलो में यह आनुवंशिक होता है
3. मोटापा या अधिक वजन होने के कारण भी यह समस्या हो सकती है
4. यदि आप बहुत अधिक तनावग्रस्त रहते हैं तो भी आपके शरीर में यूरिक एसिड इकट्ठा हो सकता है
5. कुछ स्वास्थ्य डिसऑर्डर भी यूरिक एसिड के बढ़ने का कारण बन सकते हैं:
6. किडनी की बीमारी से यूरिक एसिड बढ़ सकता है
7. मधुमेह/ डायबिटीज के कारण भी यूरिक एसिड बढ़ता है
8. हाइपोथायरायडिज्म
9. कुछ प्रकार के कैंसर या कीमोथेरेपी भी यूरिक एसिड के बढ़ने का कारण होती हैं
10. सोरायसिस – जो एक त्वचा रोग होता है के कारण यूरिक एसिड बढ़ सकता है

यूरिक एसिड दूर करने के कुछ घरेलू उपाय

1 . रोजाना सुबह 2 से 3 अखरोट खाएं। ऐसा करने से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड धीरे-धीरे कम होने लगेगा।
2 . हाई फायबर फूड जैसे ओटमील, दलिया, बींस, ब्राउन राईस (ब्राउन चावल) खाने से यूरिक एसिड की ज्यादातर मात्रा एब्जॉर्ब हो जाएगी और उसका लेवल
कम हो जाएगा।
3 बेकिंग सोडा के सेवन से भी यूरिक एसिड को कम करने में मदद मिलेगी। इसके लिए एक चम्मच बेकिंग सोडा को एक गिलास पानी में मिलाएं। अब इस
मिश्रण के 8 गिलास रोजाना पीएं। ऐसा करने से यूरिक एसिड का लेवल कम हो जाएगा। दरअसल बेकिंग सोडा यूरिक एसिड के क्रिस्टल को तोड़ने और
उन्हें खून में घोलने में मदद करता है, लेकिन ध्यान रहे कि बेकिंग सोडा ज्यादा ना लें क्योंकि इससे आपको हाई बीपी की दिक्कत हो सकती है।
4 . अजवाईन का सेवन रोजाना करें। इससे भी यूरिक एसिड की मात्रा कम होगी।
5. विटामिन सी से भरपूर चीजें ज्यादा से ज्यादा खाएं क्योंकि विटामिन सी यूरिक एसिड को टॉयलेट के जरिए बाहर निकालने में मदद करता है।
6. सलाद में रोजाना आधा या एक नींबू खाएं। इसके अलावा दिन में कम से कम एक बार एक गिलास पानी में नींबू निचोड़कर पीएं।
7. बाहर का खाना खाने के शौकीन हैं तो तुरंत बंद कर दें और खान में फल, सब्जियां और फायबूर फूड शामिल करें।
8. राजमा, छोले, अरबी, चावल, मैदा रेड मीट जैसी चीजें ना खाएं।
9. फ्रक्टोज वाले कोई भी पेय पदार्थ ना लें क्योंकि ये आपके यूरिक एसिड को बढ़ाते हैं। यह एक शोध में भी साबित किया जा चुका है।
10. रोजाना सेब खाएं। सेब में मौजूद मैलिक एसिड यूरिक एसिड को न्यूट्रिलाइज कर देता है जिससे ब्लड में इसका लेवल कम हो जाता है।
11. यूरिक एसिड कम करने के लिए तले-भुने और चिकनाई युक्त भोजन से दूर रहें। घी और मक्खन से भी दूरी बनाएं।
12. ओमेगा 3 फैटी एसिड लेने से बचें। कुछ मछलियों की प्रजाति में जैसे ट्यूना और सालमन, इनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा अधिक होती है और इन्हें खाने से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होAmarnath Yatra: सभी यात्रियों का 5 लाख का होगा बीमा, पहली बार मिलेगा RIFD कार्ड, गृहमंत्री ने दिए कई अहम निर्देशभीषण गर्मी के बीच फल-सब्जी हुए महंगे, अप्रैल में इतनी ज्यादा बढ़ी महंगाईCBI Raid के बाद आया केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम का बयान - 'CBI को रेड में कुछ नहीं मिला, लेकिन छापेमारी का समय जरूर दिलचस्प'कोरोना के कारण गर्भपात के केस 20% बढ़े, शिशुओं में आ रही विकृतिवाराणसी कोर्ट में का फैसला: अजय मिश्रा कोर्ट कमिश्नर पद से हटे, सर्वे रिपोर्ट पर सुनवाई 19 मई को, SC ने ज्ञानवापी पर हस्तक्षेप से किया इंकारGyanvapi: श्रीलंका जैसे हालात दे रहे दस्तक, इसलिए उठा रहे ज्ञानवापी जैसे मुद्दे-अजय माकनRajya Sabha polls: कौन है संभाजी राजे जिनको लेकर महाविकस आघाडी और बीजेपी में बढ़ा आंतरिक मतभेद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.