सचिवालय मिले बंद तो होगी अनुशासनात्मक कार्रवाई

- जिले के सभी ग्रामीण एवं खंड सचिवालयों को नियमित रूप से संचालित करने के निर्देश
- नवीन ग्राम पंचायतों में भी की गई ग्रामीण सचिवालयों की स्थापना

By: Bhupesh Tripathi

Published: 22 Jan 2021, 12:54 AM IST

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने जिले के सभी ग्रामीण सचिवालयों को नियमित रूप से संचालित करने तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी उपस्थित रहने के निर्देंश दिए हैं।

कलेक्टर ने इस संबंध में जिले के सभी कार्यालय प्रमुखों के साथ सभी एसडीएम और सभी जनपदों के सीईओ को पत्र लिखकर कहा हैं कि यदि सचिवालय बंद पाया जाता है अथवा कर्मचारी सचिवालय से अनुपस्थित रहते है तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए प्रस्ताव जनपद पंचायत को प्रेषित करें साथ ही जिला कार्यालय को भी अनिवार्य रूप से सूचित करने को कहा है।

कलेक्टर ने कहा है कि जनपद पंचायत को प्राप्त होने वाले पत्रों को खण्ड स्तरीय सचिवालय में शामिल करें तथा सचिवों की बैठक में ग्रामीण सचिवालय में प्राप्त आवेदन पत्रों की जानकारी लेकर प्रथम पाक्षिक की जानकारी माह के 16 तारीख को एवं द्वितीय पाक्षिक की जानकारी आगामी माह के 01 तारीख को विशेष वाहक के द्वारा निर्धारित प्रपत्र में उप संचालक पंचायत कार्यालय को अनिवार्य रूप से भिजवाएं। धरसीवां जनपद के अंतर्गत 78 ग्राम पंचायत सचिवालय संचालित है। इसमें से 18 ग्राम सचिवालय में सोमवार, 9 में मंगलवार, 16 में बुधवार, 17 में गुरूवार, 14 में शुक्रवार और 4 में शनिवार को संचालित किया जायेगा। इसी तरह तिल्दा के 101 ग्राम सचिवालय आरंग के 119 ग्राम पंचायत सचिवालय और अभनपुर में 93 ग्राम पंचायतों में ग्रामीण सचिवालय स्थापना की गई है।

जनपद पंचायत तिल्दा के तहत माह के दूसरे और चौथे गुरुवार को खण्ड सचिवालय का संचालन किया जायेगा। अभनपुर जनपद पंचायत के तहत माह के पहले और तीसरे शुक्रवार को खण्ड सचिवालय, आरंग जनपद पंचायत में माह के दूसरे एवं चौथे मंगलवार को खंड सचिवालय का संचालन किया जायेगा।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned