scriptDo not give importance to Har Ghar Dastak campaign of vaccination | वैक्सीनेशन पर बोले स्वास्थ्य मंत्री, घर-घर जाकर टीकाकरण को महत्व नहीं दे रहे, बताई ये बड़ी वजह | Patrika News

वैक्सीनेशन पर बोले स्वास्थ्य मंत्री, घर-घर जाकर टीकाकरण को महत्व नहीं दे रहे, बताई ये बड़ी वजह

केंद्र सरकार ने छूटे हुए लोगों को ढूंढकर, उनके घर जाकर टीकाकरण करने के निर्देश राज्यों को दिए हैं। मगर, छत्तीसगढ़ सरकार बहुत ज्यादा पक्ष में नहीं है।

रायपुर

Updated: November 08, 2021 03:27:26 pm

रायपुर. केंद्र सरकार ने छूटे हुए लोगों को ढूंढकर, उनके घर जाकर टीकाकरण (Vaccination) करने के निर्देश राज्यों को दिए हैं। मगर, छत्तीसगढ़ सरकार बहुत ज्यादा पक्ष में नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (CG Health Minister TS Singhdeo) का कहना है कि हम इसे इसलिए भी बहुत ज्यादा महत्व नहीं दे रहे, क्योंकि हमें आगे तक टीकाकरण करना है।
ts_singhdeo_baba_news.jpg
वैक्सीनेशन पर बोले स्वास्थ्य मंत्री, घर-घर जाकर टीकाकरण को महत्व नहीं दे रहे, बताई ये बड़ी वजह
अगर, आप किसी व्यक्ति को उसे घर में वैक्सीन लगाकर आगे बढ़ गए, और साइड इफैक्ट होता है तो मुश्किल आ सकती है। इसलिए तो 30 मिनट तक निगरानी रखने का नियम बनाया गया है। सिंहदेव ने कहा कि इस बात को ध्यान में रखकर कि कैसा प्रबंधन कर सकते हैं, वैक्सीन वैन कितने पास रहनी चाहिए ताकि समय पर मरीज को शिफ्ट किया जा सके।
उधर, सिंहदेव ने यह भी कहा कि ऐसे लोग जिन्हें पहला और दूसरा डोज नहीं लगा है, उन्हें खोजने के लिए पंचायती राज संस्थाओं को भी सीधे तौर पर सक्रिय किया जा सकता है। उन्होंने यह सुझाव भी केंद्र सरकार को दिया है। क्योंकि इनके पास गांववार जानकारी रहती है। गौरतलब है कि केंद्र ने 30 नवंबर तक घर-घर जाकर टीकाकरण करने का अभियान चलाकर शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य राज्यों को दिया है।
यह भी पढ़ें: लापरवाही पड़ सकती है भारी: अब ग्रामीण क्षेत्रों में पैर पसार रहा डेंगू, जानें लक्षण और बचाव

4 लाख वैक्सीन लगा सकते हैं एक दिन में
सिंहदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा केंद्र को पत्र लिखकर 1 करोड़ सीरिंज और 1 करोड़ डोज मांगे हैं। उनका कहना है कि विभाग 10 लाख तक डोज तक लगा सकता है, मगर मैं इसे 4 लाख तक मानकर चल रहा हूं। तो एक महीने में 1.20 करोड़ डोज की आवश्यकता होगी। इतने ही लोग दोनों डोज लगने के लिए बचे हैं। गौरतलब है कि राज्य में 37 लाख लोग हैं जिन्होंने दूसरा डोज नहीं लगवाया है, तो उधर, 40 लाख लोगों को फर्स्ट डोज लगना शेष है।
राज्य की स्थिति
1.99 लाख लक्षित आबादी।
- 1.61 लाख को लगा पहला डोज।
- 75 लाख को लगे दोनों डोज।
- कुल 2.36 लाख डोज लगे राज्य में।

यह भी पढ़ें: हो जाइए सावधान! फिर से बढ़ रहा कोरोना का खतरा, मौतों की संख्या में आई तेजी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 19 मरीजों की मौत, जनवरी में ये आंकड़ा सबसे ज्यादा, इधर तेजी से बढ़ रही एक्टिव मरीजों की संख्याUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सुभासपा अध्यक्ष कहां से लड़ेंगे चुनाव, ये अभी तक रहस्यWeather Update: राजस्थान में 26 व 27 जनवरी को अति शीतलहर का अलर्ट, 31 तक आसमान साफRepublic Day 2022: परेड में इस बार नहीं होगी दिल्ली-बंगाल की झांकी, सिर्फ 12 राज्यों ही होंगे शामिल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.