छत्तीसगढ़ में पहली बार डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित, एक दिन में रिकॉर्ड 44 नए मरीज, आंकड़ा पहुंचा 216 पर

शनिवार को 44 नए मरीज मिल गए। इनमे बिलासपुर कोविड-19 हॉस्पिटल में तैनात छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल जूनियर रेजिडेंट (जेआर) शामिल होने का यह पहला मामला है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 24 May 2020, 08:10 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में 11 मई से श्रमिकों की वापसी शुरू हुई, इसके साथ ही इनकी सेंपलिंग और 14 मई से आनी शुरू हुई टेस्ट रिपोर्ट में संक्रमित मरीजों के आंकड़े रुकने का नाम नही रह रहे हैं। शुक्रवार को जहां एक दिन में सर्वाधिक 40 मरीज मिले थे, वहीं 24 घंटे के अंदर शनिवार को 44 नए मरीज मिल गए। जिनमें राजनांदगांव, मुंगेली और बिलासपुर जिले में मिले हैं। इनमे बिलासपुर कोविड-19 हॉस्पिटल में तैनात छत्तीसगढ़ इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल जूनियर रेजिडेंट (जेआर) शामिल होने का यह पहला मामला है। इसके पहले एम्स रायपुर नर्सिंग ऑफिसर संक्रमित पाया गया था। सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि अब फ़्रंट लाइन वररियर्स भी संक्रमित हो रहे हैं।

राज्य में बीते 3 दिन में 99 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई। जिनमें से अधिकांश मजदूर है। जो महाराष्ट्र, गुजरात और आंध्र प्रदेश से लौटे हैं। इसके अलावा चंद ऐसे भी लोग हैं जो स्वयं के वाहन से आए थे। वर्तमान में प्रदेश में 152 एक्टिव मरीज है। अच्छी बात यह है कि कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में डाटा एंट्री ऑपरेटर और सिम्स की डॉक्टर को छोड़ दिया जाए तो सभी क्वॉरेंटाइन सेंटर में थे।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि भले संख्या बढ़ रही, मगर खतरा कम है। क्योंकि करीब 1.52 लाख मजदूरों में है इन्हीं मे कुछ संदिग्धों के सैंपल लेकर जांच की जा रही है और यह पॉजिटिव मिल रहे हैं। जानकारी के मुताबिक देर रात यह सूचना आई थी कि बिलासपुर में 9 नहीं 8 संक्रमित मेले हैं। एक मरीज की दो रिपोर्ट आ गई थी मगर इसकी पुष्टि नहीं हो सकी।

इंटर्नशिप पूरी कर सीधे जेआर बने डॉक्टर की तैनाती से डीएमई नाराज
छत्तीसगढ़ इंस्टिट्यूट फॉर मेडिकल साइंस (सिम्स_ बिलासपुर की एक जूनियर डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाई गई है। शनिवार को रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। 'पत्रिका' को मिली जानकारी के मुताबिक साल 2020 में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले इंटर्न को कोरोना महामारी में डॉक्टरों की आवश्यकता के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग में जूनियर असिस्टेंट के पद पर नियुक्त कर दिया था। मगर, बिलासपुर कॉलेज ने इन्हे सीधे कोविड-19 हॉस्पिटल में ड्यूटी पर तैनात कर दिया।

इनमें ही यह संक्रमित पाई गई है। सूत्रों के मुताबिक इसे लेकर चिकित्सा शिक्षा संचालक डॉ एसएल आदिले ने सिम्स अधीक्षक डॉ पुनीत को जमकर फटकार भी लगाई। कहा कि जेआर को सीधे ड्यूटी पर तैनात करने की क्या आवश्यकता थी? तत्काल सभी को हटाकर सीनियर डॉक्टर की नियुक्ति करें।

मुंबई से लौटे रायगढ़ के 4 श्रमिक संक्रमित
मुंबई से लौटने वाले रायगढ़ के धर्मजयगढ़ विकासखंड के 3 श्रमिक कोरोना संक्रमित पाए गए , अभी क्वॉरेंटाइन सेंटर में थे। तो वही 2 दिन पहले तमिलनाडु से लौटा पुसौर विकासखंड का एक युवक भी संक्रमित मिला है। इन्हे रायगढ़ के एमसीएच कोविड-19 हॉस्पिटल में आइसोलेट किया गया है।

Corona virus corona virus in india corona virus origin
Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned