अंतरजातीय शादी करने से पहले डॉक्टर ने कमरे में फांसी लगाकर कर ली खुदकुशी

- रायपुर मेडिकल कॉलेज में पीजी के थे छात्र
- तीन दिन से नहीं उठा रहे थे फोन, शक होने पर पहुंचे दोस्त

By: Ashish Gupta

Published: 30 Dec 2020, 07:15 PM IST

रायपुर. राजधानी के रायपुर मेडिकल कॉलेज के एक डॉक्टर ने अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है। डॉक्टर की शादी होने वाली थी। शादी के लिए बातचीत चल रही थी। फिलहाल खुदकुशी की कोई स्पष्ट वजह सामने नहीं आई है।

पुलिस के मुताबिक देवेंद्र सेक्टर-3 में किराए के मकान में रहने वाले डॉक्टर हेमंत देवांगन (35) रायपुर मेडिकल कॉलेज में पीजी की पढ़ाई कर रहे थे। पिछले तीन दिनों से उनका मोबाइल बंद था और वे कॉलेज नहीं आ रहे थे। अस्पताल में भी नहीं थे। बुधवार को सुबह उनके कमरे से दुर्गंध आने लगी। इसके बाद मकान मालिक को शक हुआ।

नए साल से पहले बड़ी प्रशासनिक सर्जरी, 16 IAS के तबादले सहित 6 अधिकारियों को मिला नया प्रभार

उन्होंने उनके दोस्तों और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद दरवाजा तोड़कर भीतर पहुंचे, तो डॉक्टर देवांगन फंदे पर लटके मिले। और उसमें से दुर्गंध आनी शुरू हो गई थी। पुलिस ने शव नीचे उतारा। इसके बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मृतक के कमरे से सुसाइड नोट नहीं मिला है। और खुदकुशी की कोई ठोस वजह सामने नहीं आई है।

अंतरजातीय विवाह की थी तैयारी
पुलिस के मुताबिक मृतक का अंतरजातीय विवाह की तैयारी थी। लड़की भी रायपुर की है। दोनों के परिवार वालों के बीच शादी की बातचीत चल रही थी। इस बीच डॉक्टर ने खुदकुशी कर ली। मृतक मूलत: धमतरी के रहने वाले थे। और पिछले दो साल से देवेंद्र नगर में रह रहे थे।

दौलत के लालच ने किया जीजा को अंधा, रुपए लेकर साली की दो युवकों से करा दी शादी, दीदी ने भी की मदद

पीएम रिपोर्ट-मोबाइल से खुलेगा राज
सूत्रों के मुताबिक मृतक ने अपने दोस्तों के साथ 26 दिसंबर को जन्मदिन की पार्टी की थी। उसके बाद अगले दिन 27 दिसंबर से मृतक फोन नहीं उठा रहा था। और न ही कॉलेज व अस्पताल जा रहा था। पुलिस मृतक के मोबाइल के कॉल डिटेल की जांच करेगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं मिली है। पीएम रिपोर्ट से मौत के असली कारण का पता लगेगा।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned