डॉक्टर डे : साधन-संसाधनों की कमी में भी जुटे हुए हैं जी- जान से डॉक्टर

डॉक्टर वायरस की चपेट में भी आ रहे है, मगर यह डटे हुए हैं।

By: Bhawna Chaudhary

Updated: 01 Jul 2020, 02:32 PM IST

रायपुर. देश में हर एक डॉक्टर कोरोना से बचाव के लिए एन95, पीपीटी किट, फेस शील्ड या अन्य बचाओ की सामग्री नहीं मिली है। तब जब सामान्य ओपीडी में भी कोरोना वाके मरीज मिल रहे हैं। डॉक्टर अस्पताल में ही सिले हुए हरे रंग के कपड़े से बने मास्क लगाकर लगातार सेवाएं दे रहे हैं। ये वायरस की चपेट में भी आ रहे है, मगर यह डटे हुए हैं।
24-25 दिन में एक बार मिल रहे परिवार से

कई ऐसे भी डॉक्टर है जो माता-पिता, पत्नी, बच्चों से 24 -25 दिन बाद मिलते हैं। क्योंकि 10 दिन की ड्यूटी और फिर 14 दिन का क्वॉरेंटाइन। एक दिन के लिए मिलने जाते हैं और। फिर 2425 दिन की ड्यूटी। ये कहते हैं कि आज प्रदेश जो हमारी ज़रूरत है यह मौका कुछ कर दिखाने का।

स्वास्थ्य विभाग सचिव, निहारिका बारिक ने कहा वर्ष 2020 कोविड-19 महामारी से गुजर रहा है। इस बीमारी के चलते समस्त जन जीवन शारीरिक, मानसिक और आर्थिक रूप से प्रभावित हुआ है। सभी विभाग इस बीमारी से निपटने के लिए पूरी तत्परता से अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इनमें डॉक्टर और पूरी मेडिकल स्टाफ की अहम भूमिका है। जोखिम के बाद भी डॉक्टर संपूर्ण समर्पण के साथ लोगों की जान बचाने में लगे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि इस बीमारी से जल्द पूर्ण नियंत्रण पा लेंगे।

एम्स निर्देशक, डॉ नितिन एम. नागरकर ने कहा कोविड-19 के इस चुनौतीपूर्ण समय में जिस प्रकार देश के और विशेषतः एम्स के चिकित्सकों ने एक ढाल की तरह इस वैश्विक महामारी और समाज के बीच में खुद को रख कर समाज सेवा का अनुकरण उदाहरण प्रस्तुत किया है। वह निः संदेश अनूठा है। सभी चिकित्सक अपने परिवार की चिंता किए बगैर जिस प्रकार दिन-रात रोगियों की सेवा में लगे हुए है और प्रत्येक जोखिम लेते हुए भी चिकित्सा सेवा प्रदान कर रहे हैं। वह इतिहास में सदैव स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मीरा बघेल ने कहा स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर व स्टाफ कोविड-19 की नहीं अपितु पीलिया, डेंगू व अन्य बीमारियों को दूर करने में भी पूरी तत्परता से साथ जुड़े हुए हैं। कोरोना मरीजों का इलाज करते हुए भी तक 49 डॉक्टर्स व अन्य स्टाफ संक्रमित हो चुके हैं। फिर भी उनका हौसला बुलंद है। कई डॉक्टर व स्टाफ कोरोना संक्रमण को मात देकर संक्रमित मरीजों के इलाज में जुटे हुए हैं। जो काफी सराहनीय है। उम्मीद है की डॉक्टर और स्टाफ इस महामारी को दूर करने में ऐसे ही जुटे रहेंगे और उनका हौसला बुलंद रहेगा।

Corona virus
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned