RSS में लंबे समय बाद बदलाव, डॉ. पूर्णेन्दु होंगे प्रांत संघचालक

- संघ (RSS) की सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन प्रांत के हिसाब से महत्वपूर्ण बदलाव भी है। इसके अलावा भी संघ में अहम बदलाव हुए है। प्रांत कार्यवाह चंद्रशेखर वर्मा को अब विहिप की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 25 Jan 2021, 10:15 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में राजनितिक चर्चा तेज है। भाजपा 2023 विधानसभा चुनाव में वापसी के लिए तैयारियों में जुट गए है। इसी बीच छत्तीसगढ़ प्रांत में लंबे समय बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में बदलाव हुआ है। अब प्रांत संघचालक बिसराम यादव की जगह अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. पूर्णेन्दु सक्सेना इस जिम्मेदारी का निर्वाहन करेंगे। वे लंबे समय तक सह प्रांत संघचालक की जिम्मेदारी निभा चुके हैं। बताया जाता है कि करीब तीन कार्यकाल यानी नौ साल साल बाद यह बदलाव हुआ है।

राजधानी के आरएसएस मुख्यालय जागृति मंडल में रविवार को महत्वपूर्ण बैठक हुई। इसमें छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिला, विभाग से प्रतिनिधि आए हुए थे। इसी बठक में प्रांत संघचालक का निर्वाचन हुआ। प्रांत प्रचार प्रमुख कनिराम ने बताया, संघ के संविधान के अनुसार 3 वर्ष में होने वाले निर्वाचन में प्रान्त संघचालक बिसराराम यादव ने अपने कार्यकाल के पूर्ण होते ही निवृत्त होने की घोषणा की। इसके बाद डॉ. सक्सेना का निर्वाचन हुआ। उनका कार्यकाल 3 वर्ष का होगा।

purnendu_saxena.jpg

बताया जाता है कि यह संघ (RSS) की सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन प्रांत के हिसाब से महत्वपूर्ण बदलाव भी है। इसके अलावा भी संघ में अहम बदलाव हुए है। प्रांत कार्यवाह चंद्रशेखर वर्मा को अब विहिप की जिम्मेदारी सौंपी गई है। चाम्पा के प्रांत कार्यवाहन चंद्रशेखर देवांगन अब प्रांत कार्यवाह होंगे। रायपुर टोपलाल वर्मा को सह प्रांत कार्यवाह बनाया गया है। मालूम हो कि इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से संघ के निर्वाचन में देरी हुई है। इस दौरान प्रान्त, क्षेत्र व अखिल भारतीय अधिकारी भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned