राजधानी में ड्रग कनेक्शन बेनकाब: पत्नी आयोजित करती थी पार्टी और उसमें पति बेचता था कोकिन

- दुबई (Drug in Raipur) से लौटने के बाद ड्रग पैडलर (Drug Peddler) ने रायपुर को बनाया अड्डा
- शराब पीने के बाद युवक-युवतियों को ड्रग्स का ट्रायल करवाते थे
- 40 से ज्यादा युवतियां कर चुकी हैं कोकिन का सेवन

By: Ashish Gupta

Updated: 12 Oct 2020, 08:53 PM IST

रायपुर. राजधानी (Drug in Raipur) में कई ड्रग्स पैडलर्स सक्रिय हैं। एक पैडलर (Drug Peddler) आशीष जोशी तो अपनी पत्नी के साथ मिलकर पिछले कई साल से कोकिन बेच रहा था। कोकिन बेचने के लिए उसकी पत्नी होटलों-क्लबों में कमरे बुक करके या कभी-कभी अपने ही घर में पार्टी आयोजित करती थी। इसमें 5 से 10 लोगों को ही बुलाया जाता था। फिर उसमें आशीष कोकिन बेचता था। अगर पार्टी में कोई नया सदस्य होता था, तो उसे ट्रायल के तौर पर कोकिन का सेवन करवाते थे।

इसके बाद अगली बार कोकिन के एवज में उससे पैसे लिए जाते थे। आशीष की गिरफ्तारी के बाद उसकी पत्नी गायब है। पुलिस उसकी पत्नी और उसकी करीबी दोस्तों की तलाश में लगी है। आशीष जोशी मूलता: हरियाणा का रहने वाला है। और दुबई में काम करता था। वहां से लौटने के बाद रायपुर में सेटल हो गया। रायपुर में दिखावे के लिए टाइल्स का कारोबार कर रहा था। उसने एक युवती को अपनी पत्नी के तौर पर रखा था। दोनों राजेंद्र नगर इलाके में रहते हैं। टाइल्स का काम कम होटलों में पार्टी आयोजित करने का काम ज्यादा करता था।

मरवाही उपचुनाव: अमित जोगी का भूपेश पर जुबानी हमला, बोले - CM को लगा जोगरिया रोग

ड्रग्स की पार्टी
आशीष और उसकी कथित पत्नी रायपुर के अलावा दुर्ग-भिलाई में छोटी-छोटी पार्टी आयोजित करते थे। दरअसल यह ड्रग्स पीने की पार्टी होती थी। 5 से 10 लोगों के समूह में मिलते थे और ड्रग्स का सेवन कराते थे। दोनों रायपुर और भिलाई में ऐसी 30 से ज्यादा पार्टी आयोजित की है। कभी-कभी अपने घर में भी ड्रग्स पार्टी आयोजित कर लेते थे। इनके मोबाइलों की जांच और इनसे जुड़े वाट्सएप गु्रप में कई युवक-युवतियां शामिल हैं। उन्हें कॉमन वाट्सएप गु्रप में मैसेज करके पार्टी का स्थान और ड्रग्स की मात्रा तय की जाती थी।

कोकिन की शौकिन युवतियां भी
कोकिन बेचने वालों से पूछताछ और अब तक हुई जांच के मुताबिक कोकिन का सेवन करने में युवकों के साथ युवतियां भी हैं। अभी तक कोकिन पीने वाली 50 से ज्यादा युवतियों और महिलाओं की जानकारी पुलिस को मिल चुकी है। इसमें अधिकांश संभ्रात घर की हैं। पुलिस का दावा है कि अभी ड्रग पैडलर्स को टारगेट कर रही है। इसलिए ड्रग्स का उपयोग करने वालों पर ज्यादा फोकस नहीं है। उनसे पूछताछ की जा रही है। उनके बयान दर्ज किए जा रहे हैं। कुछ युवतियों से पुलिस की टीम ने सोमवार को पूछताछ की। और उनके बयान लिए।

छत्तीसगढ़ के मंत्री की फर्जी फेसबुक ID बनाकर, साइबर ठगों ने शिव डहरिया के दोस्त से मांगे 20 हजार

युवती का मोबाइल भी बंद
दरअसल रायपुर में कोकिन पैडलर श्रेयांश झाबक और विकास बंछोर के गिरफ्तार होते ही उससे जुड़े कई लोगों ने मोबाइल बंद कर दिया और फरार हो गए। बिलासपुर से अभिषेक शुक्ला के बाद भिलाई से आशीष जोशी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। आशीष के पकड़े जाने के बाद से उसकी कथित पत्नी फरार हो गई। अपना मोबाइल बंद कर दिया। आशंका है कि उसके पास ड्रग्स पार्टी में शामिल होने वाले कई युवक-युवतियों की जानकारी है। उसके पकड़े जाने के बाद एक और बड़े गिरोह का खुलासा हो सकेगा।

रायपुर के एसएसपी अजय यादव ने कहा, आशीष की पत्नी की तलाश की जा रही है। शुरुआती जांच में पता चला है कि वह पार्टी आयोजित करती थी, जिसमें कोकिन का सेवन किया जाता था। पूरे मामले में पुलिस 11 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। कुछ और लोग इसमें शामिल हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी होगी।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned