हुड़दंगियों ने छीना बुजुर्ग मां का सहारा, मामूली बात पर युवक की ले ली जान

हुड़दंगियों ने छीना बुजुर्ग मां का सहारा, मामूली बात पर युवक की ले ली जान
arrested accused

गणेश विसर्जन के दौरान एक युवक की हत्या के मामले में ग्रामीणों ने अमलेश्वर थाने का घेराव कर दिया। ग्रामीणों ने हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपियों को छुड़वाने की मांग की।

रायपुर. गणेश विसर्जन में कानून व्यवस्था बनाए रखने की तमाम कवायदों के बावजूद हुड़दंग कम नहीं हुआ। इसके कारण एक बूढ़ी मां का आसरा ही छिन गया। अमलेश्वर में हुड़दंगियों के समूह ने एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

युवक अपनी 70 वर्षीया बुजुर्ग मां का एकमात्र सहारा था। छोटे-मोटे काम करके उसकी देखभाल कर रहा था। पुलिस ने इस मामले में 7 युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए अमलेश्वर निवासियों ने थाने के सामने प्रदर्शन भी किया।

क्या है मामला
पुलिस के मुताबिक रायपुर के नेहरू नगर निवासी मदन नाग (24) अपने साथियों के साथ बुधवार की रात गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने महादेवघाट गया था। विसर्जन के बाद रात करीब डेढ़ बजे अमलेश्वर की ओर से घर लौट रहे थे।

उसी दौरान अमलेश्वर की आर्यन गणेशोत्सव समिति प्रतिमा विसर्जन के लिए निकली थी। इससे वहां से निकलने का रास्ता बंद हो गया था। मदन और उसके साथियों ने जाने के लिए रास्ता मांगा। रास्ते देने के बजाय आर्यन समिति के युवकों ने गाली-गलौज करते हुए मना कर दिया।

मामूली बात पर युवक की पीट-पीटकर हत्या
इसका लड़कों ने विरोध किया। इससे नाराज होकर आर्यन समिति के त्रिलोकी साहू, अश्विनी निषाद, त्रिपुरारी साहू, मनीष ठाकुर, गोविंद साहू, आकाश बंछोर, रामाधर यादव ने मिलकर उन पर हमला कर दिया। इसमें मदन फंस गया, बाकी भाग निकले।

मदन पर लाठी, पटिया से हमला किया गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और 3 आरोपियों को हिरासत में ले लिया। गुरुवार सुबह 4 अन्य को पकड़ा गया।

आरोपियों को छुड़ाने पहुंचे गांव वाले
पुलिस ने हत्या के आरोप में त्रिलोकी, अश्विनी, त्रिपुरारी के अलावा मनीष, गोविंद, आकाश, रामाधर को गिरफ्तार कर लिया है। इसका गांव वालों ने विरोध शुरू कर दिया। दोपहर में ग्रामीण थाने के सामने प्रदर्शन करने लगे। उनकी मांग थी कि पुलिस ने जिन्हें आरोपी बनाया है, वे बेगुनाह है।

मृतक पक्ष के लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। मौके पर एसडीएम सौम्या चौरसिया, एसडीओपी प्रवीरचंद्र तिवारी व अन्य अधिकारी पहुंचे। पुलिस ने ग्रामीणों की मांग को सख्त लहजे में खारिज कर दिया। और मामले में हुई कार्रवाई को जायज बताया। इसके बाद प्रदर्शनकारी चले गए।
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned