हमारे नेता कितने शिक्षित...कितने हैं अमीर...नहीं मिलेगी जानकारी

आयोग ने प्रत्याशियों के शपथ पत्र को नहीं किया सार्वजनिक

रायपुर. 10 दिन बाद जनता रायपुर के 628 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने वाली है। लेकिन जनता को यह तक नहीं पता चल पा रहा है कि उनके द्वारा चुने जाने वाले प्रत्याशी कितने शिक्षित हैं। जनता के आवाज बनने वाले जन प्रतिनिधि कितने पढ़े-लिखे हैं, उनकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि है या नहीं, यह जानकारी आम आदमी को नहीं मिल पाएगी।
विधानसभा और लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों द्वारा की गई खुद की जानकारी ऑनलाइन प्रकाशित करने के निर्देश निर्वाचन आयोग में दिए गए थे। इसके अलावा खुद पर चल रहे आपराधिक मामलों को अखबार में प्रकाशित करने को भी कहा गया था। चौंकाने वाली बात यह है कि नगर निगम चुनाव जिसमें जीत कर प्रत्याशी सीधे जनता से जुड़ता है, इस चुनाव में प्रत्याशियों की बुनियादी जानकारी भी नहीं मिल पा रही है। कारण यह है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रत्याशियों के द्वारा दिए गए शपथ पत्र को सार्वजनिक नहीं किया है। एक तरफ चुनाव आयोग प्रत्याशियों के लिए पहली बार ऑनलाइन आवेदन की सुविधा शुरू की थी। जिले के 11 सौ प्रत्याशियों में से सिर्फ 26 ने ही आनलाइन आवेदन किया था। एक तरफ आयोग ऑनलाइन प्रक्रिया कर रहा है दूसरी ओर प्रत्याशियों की महत्वपूर्ण जानकारी जनता तक नहीं पहुंच पा रही है।
कितनी संपत्ति इसका भी पता नहीं
नगर निगम में 85 प्रतिशत ऐसे प्रत्याशी मैदान में हैं जो पहले भी महापौर, पार्षद और महापौर रह चुके हैं। उनकी सपंत्ति में कितना इजाफा हुआ यह भी जनता नहीं जान पाएगी। बीते चुनावों की तरह प्रत्याशियों की सपंत्ति का ब्योरा भी सार्वजनिक नहीं किया जा रहा।
शपथपत्र में देनी होती पूरी जानकारी
चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी लगातार शपथ पत्र में अपने संपत्ति, शिक्षा और आपराधिक रेकार्ड की जानकारी नामांकन के साथ शपथ पत्र में देते हैं। इसके बाद दावा आपत्ती के लिए 1 दिन का समय दिया जाता है। जानकारी सर्वजनिक नही होने के कारण दावा-आपत्ति नहीं हो पाती है।
आ चुके हैं फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले
लगतार प्रत्याशियों द्वारा संपत्ति की गलत जानकारी देने और फर्जी जाति प्रमाण पत्र जमा करने के मामले सामने आ चुके हैं। शिकायतें भी हो रही हैं। ऐसे में साफ है कि यदि जानकारी सार्वजनिक की गई तो कई प्रत्याशियों के द्वारा दी गई गलत जानकारी सामने आ जाएगी।

bhemendra yadav Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned