ऑनलाइन क्लास का समय कम करने की तैयारी में स्कूल शिक्षा विभाग के जिम्मेदार

- बच्चो को आंखों में परेशानी होने की शिकायत पर शुरू की तैयारी
- जल्द निर्देश होगा जारी

By: Bhupesh Tripathi

Published: 20 Jul 2020, 03:49 PM IST

रायपुर। लॉकडाउन के दरमियान स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने छात्रों का सिलेबस पूरा कराने के लिए ऑनलाइन क्लास संचालन करने का निर्देश शासकीय और निजी स्कूलों को दिया था। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों का यह फरमान छात्रों और पालकों की परेशानी का सबब बन गया है। ऑनलाइन क्लास ज्यादा होने की वजह से छात्रों को सिर दर्द और आंख जलने की समस्या होने की लगी है। यह शिकायत स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को मिलने पर, विभागीय अधिकारियों ने ऑनलाइन क्लास का समय कम करने की तैयारी शुरू कर दी है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो जल्द ही नया सर्कुलर जारी होगा। किस क्लास के छात्र को, कितना देर ऑनलाइन पढ़ाना है? यह सब सर्कुलर निर्देशित किया जाएगा।

पहली से पांचवी की क्लास का समय होगा कम
स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया, कि छात्रों का सिलेबस पूरा हो सके इसलिए दो से तीन घंटे तक क्लास का संचालन निजी स्कूलों के द्वारा किया जा रहा है। पालक संघ द्वारा शिकायत मिलने के बाद और छात्रों की परेशानी को देखते हुए पहली से पांचवी तक के छात्रों की केवल तीन क्लास और छठवीं से १२वीं तक के छात्रों की ५ क्लास आयोजित होगी। ये क्लास 30 मिनट की होगी या 40 मिनट की इस पर विचार अभी किया जा रहा है।

पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
ऑनलाइन क्लास से छात्रों को आंख और सिर दर्द की परेशानी हो रही है। छात्र चिढ़चिढ़े हो रहे हैं। इस बात की शिकायत कुछ पालकों ने पत्रिका से की थी। पालकों की शिकायत पर पत्रिका ने विशेषज्ञों से चर्चा की और पूरे मामलें को प्रमुखता से प्रकाशित किया। पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद पालक संघ ने पूरे मामलें में शिकायत की, जिसके बाद ऑनलाइन क्लास की समय सीमा कम करने की तैयारी विभाग के अधिकारी कर रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास से छात्र को आंख और सिर दर्द संबंधी शिकायतें बढ़ रही है। यह शिकायत पिछले दिनों मिली थी। पालकों की समस्याओं को विभागीय अधिकारियों से अवगत कराया था। अफसरों ने ऑनलाइन क्लास में बदलाव के संकेत दिए है। सर्कुलर जारी होने पर सभी स्कूलों को इस संबंध में आदेश जारी किया जाएगा।
जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी,रायपुर।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned