कोरोना इफेक्ट: स्कूलों के अस्तित्व पर संकट, 44 स्कूल बंद, 30 अन्य बंद होने की कगार पर

कोरोना संक्रमण काल के चलते कई वर्षों से स्कूली शिक्षा कोविड से मुक्ति के लिए तड़प रही है। ऐसे में फीस के अभाव में आर्थिक संकट के चलते स्कूलों के अस्तित्व पर संकट आ गया है।

By: Ashish Gupta

Published: 20 Jun 2021, 09:56 PM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण काल के चलते कई वर्षों से स्कूली शिक्षा कोविड से मुक्ति के लिए तड़प रही है। ऐसे में फीस के अभाव में आर्थिक संकट के चलते स्कूलों के अस्तित्व पर संकट आ गया है। विद्यार्थियों से शत प्रतिशत शुल्क ना मिलने? प्रवेश कम होने? बढ़ते स्टॉफ खर्च को मेंटेन नहीं कर पाने की वजह से जिले के 44 निजी स्कूलों के गेट हमेशा के लिए बंद हो गए हैं। इन स्कूल प्रबंधकों ने जिला शिक्षा विभाग को पत्र देकर इसकी सूचना दी है।

स्कूल बंद होने से यहां अध्ययनरत 8 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों को परेशानी से जूझना पड़ रहा है। इन 44 स्कूलों के अलावा लगभग 30 अन्य स्कूल भी बंद होने की कगार पर है। जिला शिक्षा अधिकारी ने जानकारी होने पर सर्व विकास खंड शिक्षा अधिकारी को स्कूलों का निरीक्षण करने और वहां के छात्रों को अन्य स्कूलों में शिफ्ट कराने का निर्देश दिया है। डीईओ के निर्देश का नोडलों ने पालन करना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में एडमिशन के लिए इस तारीख के बाद जारी होगी मेरिट लिस्ट

शिक्षक सहित 2500 कर्मचारी बेरोजगार
स्कूल संचालकों की पीड़ा है कि जब फीस ही नहीं आ रही है तो आखिर वे शिक्षकों को मानदेय कहां से दें। छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के के अनुसार इन स्कूलों के लगभग 1800 शिक्षकों सहित कर्मचारियों का स्टाफ बेरोजगार हो गया है। स्टॉफ ने एसोसिएशन से मदद की मांग की है।

ये स्कूल हुए बंद
एसवीबी विधा मंदिर नवापारा, ज्ञान ज्योति विधा मंदिर कुरूद, एडिश अबाबा इंटरनेशनल इंग्लिश मीडियम स्कूल पचेरा, ज्ञान ज्योति विधा मंदिर समोदा, विवेकानंद विधा मंदिर, मां दुर्गा विधा मंदिर बिरगांव, जोहरे आजम मिडिल स्कूल बिरगांव, न्यू सनराइज इंग्लिश मीडियम स्कूल बिरगांव, इंडियन एंजेल पब्लिक स्कूल बिरगांव, इंदुश एंजल पब्लिक स्कूल मुजगहन, प्रगति विद्यालय तिलक नगर गुढिय़ारी, ज्ञान वर्षा विद्यालय जरवाय, ऑक्सफोर्ड इंग्लिश स्कूल कटोरा तालाब, जेएस पब्लिक रविग्राम तेलीबंाधा, विविध पब्लिक स्कूल देवेंद्र नगर, माता कुंती हायर सेकेंड्री स्कूल मोवा, सन साइन पब्लिक स्कूल डगनिया, सर्वोदय विधा मंदिर संतोषी नगर, कर्मा विधा मंदिर पचपेड़ी नाका, सर्वोदय विधा मंदिर,चाणक्य पब्लिक स्कूल सरोना, श्री किड्स स्कूल तेलीबांधा, नवीन संस्कार भारती डीडी नगर, हिंदी प्राइमरी स्कूल संजय नगर, डायनमिक पब्लिक स्कूल शहीद स्मारक, पुष्पक इंग्लिश मीडियम मौदहापारा, दीप श्रृंखला पब्लिक स्कूल शंकर नगर, इस्लाम मुस्लिम विवेकानंद नगर, चाणक्य विधापीठ भनपुरी, टिनी टॉट स्कूल डब्ल्यूआरएस, लीडर्स वे इंग्लिश स्कूल श्रीनगर, विद्याकृत कान्वेंट स्कूल एवं ग्रांड पब्लिक स्कूल कचना।

यह भी पढ़ें: CG Board में बड़ी लापरवाही: रिजल्ट से पहले 12वीं की 20 हजार कॉपियां गायब, मचा हड़कंप

रायपुर जिला शिक्षा अधिकारी अशोक नारायण बंजारा ने कहा, बंद हो चुके स्कूलों के छात्रों को निकटतम स्कूलों में प्रवेश मिल सके, इसलिए अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश जारी किया है। 44 स्कूल प्रबंधन ने स्कूल बंद करने का आवेदन दिया है। इन स्कूलों के छात्रों को अन्यत्र स्कूलों में प्रवेश मिले, इसलिए अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश जारी किया है।

स्कूल शिक्षा एमआईएस के एडमिस्ट्रेटर सत्यदेव वर्मा ने कहा, कोरोना संक्रमण की वजह से वर्ष 2019 से स्कूल खुल नहीं रहे है। इसका असर कई निजी स्कूलों पर पड़ा है। 44 स्कूल संचालकों ने हमेशा के लिए बंद होने की जानकारी दी है। नोडलों को छात्रों की समस्या का समाधान करने के लिए कहा गया है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned