वाहनों के प्रदूषण मुक्त बनाने के निगम का पहला प्रयास भी विफल, कचरा ढोने वाली बैटरी चलित रिक्शा कबाड़खाने में

वाहनों के प्रदूषण मुक्त बनाने के निगम का पहला प्रयास भी विफल, कचरा ढोने  वाली बैटरी चलित रिक्शा कबाड़खाने में
nagar nigam raipur chhattisgarh

Santram Sahu | Updated: 12 Oct 2019, 09:31:47 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

निगम ने प्रयोग के तौर चार बैटरी चलित आटो रिक्शा खरीदा था सालभर पहले, तब से रखे हैं मोटर वर्कशॉप में ।

 

सिटी रिपोर्टर, रायपुर.

नगर निगम प्रशासन ने शहर को वाहनों के धुएं से शहर को प्रदूषित होने से बचाने के लिए खुद पहला प्रयास किया था, जो अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। नगर निगम ने एक साल पहले कचरा नुक्कड़ों से कचरा उठाने वाली चार बैटरी चलित आटो रिक्शा मंगाए थे। ये आटो रिक्शा बमुश्किल एक सप्ताह चली होगी, इसके बाद मोटर वर्कशॉप के कबाड़ खाने में पड़ी हुई। किसी रिक्शे की बैटरी गायब है, तो किसी का पहिया ही गायब है। यह प्रयोग असफल होने के बाद निगम ने इलेक्ट्रिॉनिक बस जो बैटरी से चलती है, उसे चलाने का प्रयास किया, लेकिन वह भी ठंडे बस्ते में चला गया है। निगम अधिकारियों के अनुसार बैटरी से चलने वाली आटो रिक्शा सक्सेस नहीं होने के कारण उसका उपयोग बंद कर दिया गया है। क्योंकि इसका मेंटेनेंस ज्यादा था, साथ ही बैटरी ज्यादा दिन नहीं चल रही थी। बैटरी को हर दिन चार्ज करना पड़ रहा था। चार्ज प्वाइंट नहीं होने के कारण कचरा धोने के समय ही बीच में आटो रिक्शा बंद हो रही थी। इस कारण से सभी आटो रिक्शा को बंद कर दिया गया है। कोट् बैटरी से चलने वाली आटो रिक्शा को निगम ने नहीं खरीदा था। किसी कंपनी ने प्रयोग के तौर कचरा परिवहन के लिए निगम को दिया था। लेकिन सक्सेस नहीं होने के कारण उसे चलाना बंद कर दिया । इसके कंपनी को आटो रिक्शा को वापस लेने जाने के लिए पत्र लिखाथा, लेकिन आज तक कंपनी लेकर नहीं गई। - शिव अनंत तायल, आयुक्त, नगर निगम रायपुर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned