scriptElephants and sand mining ruined Kalinder's cultivation | हाथियों और रेत खनन ने कलिंदर की खेती की बर्बाद | Patrika News

हाथियों और रेत खनन ने कलिंदर की खेती की बर्बाद

- महानदी कछार में खेती करने वाले किसानों का झटका
- छत्तीसगढ़ में महाराष्ट्र और ओडिशा से आ रहा कलिंदर

रायपुर

Published: April 26, 2022 08:27:16 am

दिनेश यदु @ रायपुर. तपती गर्मी (sweltering heat) से लोगों को राहत देने वाला कलिंदर (तरबूज) (Kalinder (watermelon) की मांग बढऩे लगती है। लेकिन इस साल कलिंदर के लिए छत्तीसगढ़ को महाराष्ट्र और ओडिशा पर निर्भर रहना पड़ रहा है। आरंग, राजिम, शिवरीनारायण से लगे गांवों में महानदी कछार में कलिंदर की बंपर खेती (Kalinder's bumper farming) होती थी। लेकिन आरंग में हाथियों का आतंक (elephant terror) और रेत के बेहिसाब खनन (heavy sand mining) के कारण खेती बर्बाद हो गई है। जनवरी में हुई बारिश ने भी कलिंदर को बर्बाद कर दिया। इससे किसानों को लाखों का नुकसान हुआ है।
दस लाख का हुआ नुकसान
आरंग के निकट पारागांव (Paragaon near Arang) के किसान हेमलाल निषाद ने बताया कि हम लोग हर साल लोग कलिंदर की खेती करते हैं। कोरोना काल में भी हम सब गांव वाले कलिंदर की खेती की थी, पर लॉकडान के कारण हमें दो साल तक फायदा नहीं मिला। इस साल जनवरी में महानदी में हमारे गांव के सभी किसान कलिंदर के पौधे लगाए थे, लेकिन जनवरी में हुए बारिश के कारण डैम से पानी छोड़ दिया गया, जिसके कारण पूरी फसल बर्बाद हो गई। फिर हमने दूसरी बार खेती शुरु की, जिसमे कलिंदर ना लगाकर खरबूज, ककड़ी, खीरा व बरबट्टी लगाए हैं।
हाथियों और रेत खनन ने कलिंदर की खेती की बर्बाद
Elephants and sand mining ruined Kalinder's cultivation
यह भी पढ़ें - समाज के अपमान से बचने के लिए करना पड़ा दूसरी शादी, आयोग ने लगाई फटकार
यह भी पढ़ें - शेर हो या अमेरिका की मकाउ , सबको देनी पड़ रही ठंडी हवा
यह भी पढ़ें - दिल्ली में प्रदेश की बात नहीं रख पाते हमारे नेता, हम पर बनाते हैं दबाव
यह भी पढ़ें - हमर छत्तीसगढ़ में विरासतों का भंडार, फिर भी विश्व धरोहर में शामिल नहीं
हाथियों और रेत खनन ने कलिंदर की खेती की बर्बाद
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu @ Patrika Raipur
एक किसान को मिलती है 40 फीट जमीन
पारागांव निवासी किसान तुकाराम कुंभकार ने बताया कि हमारे गांव के करीब 100 किसान दीपावली के बाद नदी में आपस में 40-40 फीट बांटकर खेत तैयार करने में जुट जाते हैं, 10 से 20 दिन में खेत तैयार कर उसमें कलिंदर के बीज डालते हैं, जिससे फसल आने में करीब दो माह लग जाते हैं।
हाथी व रेत उत्खनन भी एक कारण
नोहर चक्रधारी ने बताया कि अब कलिंदर की खेती कर नही पा रहे है, नदी में रेत उत्खनन से घाटों की रेत तेजी से खत्म हो रहा है। जिससे कारण नदी से रेत निकालने वाले हमारे बाड़ी के आसपास रेत उत्खनन करते है और रात में जानबूझकर हमारे खेत के पास से आवाजाही करके खेत नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते है, ताकि हम खेती छोड़ दे। इसके साथ ही हाथी भी हमारे खेत में आ जाते है, जिसके कारण फसल बर्बाद हो जाता है।
यहां नही मिल रहा है कलिंदर
शहर के व्यापारी विष्णु गुप्ता ने बताया कि गर्मी के समय हर साल शहर में कलिंदर की डिमांड बढ़ जाती है। इस साल भी अच्छी मांग है। इस बार आरंग,राजिम, महासमुंद व सिरपुर के आसपास में कलिंदर का फसल कम होने के कारण ओडिसा और महाराष्ट्र से मंगाना पड़ रहा हैं। दो साल पहले कलिंदर का कीमत थोक में 10 से 15 रुपए प्रति किलो मिलता था, इस 15 से 20 रुपए हो गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Udaipur : उदयपुर में आगजनी-पत्थरबाजी, इंटरनेट बंद, कर्फ्यू लगाया, पूरे राज्य में अलर्टUdaipur में नूपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट करने पर युवक की गला काटकर हत्या, सोशल मीडिया पर जारी किया वीडियोMaharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियांPunjab: सीएम भगवंत मान का ऐलान, अग्निपथ के खिलाफ विधानसभा में लाएंगे प्रस्ताव, होगा किसान आंदोलन जैसा विरोध!Maharashtra Political Crisis: पुत्र और प्रवक्ता बालासाहेब के शिवसैनिकों को बोल रहे भैंस-कुत्ता, उद्धव ठाकरे की अपील का एकनाथ शिंदे ने दिया जवाबMaharashtra: ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत को फिर भेजा समन, जमीन घोटाले के मामले में 1 जुलाई को पेश होने के लिए कहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.