अमलोर में हाथियों ने मचाया भारी उत्पात, कच्चे मकानों को तोड़ा, सब्जी बाड़ी को रौंदा

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार रात गांव में हाथियों का दल घुसने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मकानों को क्षति पहुंचाते हुए हाथियों ने केला, गन्ने व सब्जी बाड़ी को चौपट कर दिया।

By: dharmendra ghidode

Published: 09 Apr 2020, 11:09 PM IST

मैनपुर. उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व वन परिक्षेत्र कुल्हाडीघाट अंतर्गत ओड़ सर्कल के ग्राम अमलोर में मंगलवार रात हाथियों के खूब उत्पात मचाया। गांव में घुसे हाथियों ने आधा दर्जन मकानों को ढहा दिया। साथ ही सब्जी बाड़ी को पूरी तरह रौंद दिया। जिससे ग्रामीणों को भारी आर्थिक क्षति हुई है। प्रभावित ग्रामीणों ने वन प्रशासन से मुआवजा की मांग की है।
वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार रात गांव में हाथियों का दल घुसने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मकानों को क्षति पहुंचाते हुए हाथियों ने केला, गन्ने व सब्जी बाड़ी को चौपट कर दिया। 8 से 10 हाथी पिछले एक सप्ताह से ओड़ व अमलोर के बंीच जंगलों में नदी किनारे मंडरा रहे थे। जो एकाएक मंगलवार रात 10 बजे के आसपास अमलोर ग्राम में घुस गए।
ग्रामीण कंवल सिंह कमार, अर्जुन यादव, कृष्ण कमार, रामसिंह सहित अन्य किसानों ने बताया कि मशाल जलाकर कोलाहल करने से हाथी वापस जंगल की चल दिए। वन विभाग के मुताबिक हाथियों का दल अब भी कक्ष क्रमांक 841 और 880 के बीच ओड़ पहाड़ी बनियाधस नदी किनारे ठहरा हुआ है । ग्रामीण अपने दैनिक उपयोग के सामग्री व जलाऊ लकडी लाने जंगल के तरफ नहीं जा पा रहे हैं। खेती-बाड़ी की रखवाली करना छोड दिए हैं। वही मकान और फसल क्षति की जानकारी ग्रामीणों ने वन प्रशासन को देकर मुआवजा की मांग की है।
ग्रामीणों के माध्यम से सूचना मिली है कि हाथियों का दल अमलोर में किसानों के मकान को ढहाते हुए केला बाड़ी सहित फसलों को नुकसान पहुंचाया है। वहीं अभी हाथियों का दल कक्ष क्रमांक 841 व 880 के बीच ओड़ पहाड़ी के पीछे जंगलों में रुका हुआ है। जिनके पल-पल की खबर विभाग द्वारा ली जा रही है।
सुदर्शन राम नेताम, वन परिक्षेत्र अधिकारी, कुल्हाड़ीघाट

dharmendra ghidode Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned