छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय दर से आधी बेरोजगारी, राष्ट्रीय औसत दर 7.6 फीसदी की तुलना में छत्तीसगढ़ में 3.8 प्रतिशत बेरोजगारी

Employment News: कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के साथ ही छत्तीसगढ़ में उद्यम, रोजगार और अर्थव्यवस्था की स्थिति अब और अधिक बेहतर होने लगी है। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ राज्य में बेरोजगारी दर राष्ट्रीय दर की तुलना में मात्र आधी है।

By: Ashish Gupta

Published: 18 Sep 2021, 07:11 PM IST

रायपुर. Employment News: कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के साथ ही छत्तीसगढ़ में उद्यम, रोजगार और अर्थव्यवस्था की स्थिति अब और अधिक बेहतर होने लगी है। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ राज्य में बेरोजगारी दर राष्ट्रीय दर की तुलना में मात्र आधी है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMI) द्वारा 16 सितंबर 2021 को जारी रिपोर्ट के मुताबिक छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर 3.8 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय बेरोजगारी दर 7.6 प्रतिशत है। प्रदेश की स्थिति देश के कई बड़े और विकसित राज्यों से बेहतर है। छत्तीसगढ़ के साथ अलग राज्य बने झारखंड में भी बेरोजगारी की दर 16 फीसदी अधिक है। इस वजह से वहां की आर्थिक स्थिति भी कमजोर है। जबकि छत्तीसगढ़ विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से आर्थिक स्थिति बेहरत बनाए रखा है।

इन योजनाओं और कार्यक्रमों से मिली राहत
छत्तीसगढ़ राज्य कृषि प्रधान राज्य है। राज्य की 74 फीसदी आबादी गांवों में निवास करती है और उसके जीवनयापन का आधार कृषि और वनोपज है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के लगातार प्रयास के चलते गांवों की अर्थव्यवस्था को गति मिली है। गांवों में रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं। कोरोना संक्रमण काल के दौरान मनरेगा के कामों को बेहतर तरीके से संचालित करने के साथ ही धान खरीदी, लघु वनोपज के संग्रहण, खरीदी एवं प्रोसेसिंग की व्यवस्था को भी चालू रखा गया, जिससे गांवों में लोगों को निरंतर रोजगार सुलभ हुआ है।

छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना ने भी ग्रामीण अंचल में अर्थव्यवस्था को गतिशील बनाए रखने में मदद की है। सरकार की उक्त योजनाओं एवं कार्यक्रमों के माध्यम से ग्रामीणों, किसानों, पशुपालकों, मनरेगा के श्रमिकों, वनोपज संग्राहकों को सीधे मदद मुहैया लगभग कराई गई। इसका परिणाम यह रहा कि मार्केट में पैसे का फ्लो और रौनक कायम रही। जिससे राज्य में बेरोजगारी दर को नियंत्रित करने में मदद मिली है।

राज्यों में बेरोजगारी
राज्य-प्रतिशत
आंध्रप्रदेश-6.5
बिहार- 13.6
राजस्थान-26.7
तामिलनाडू -6.3
उत्तर प्रदेश-7
उत्तराखंड -6.2
दिल्ली -11.6
गोवा-12.6
असम-6.7
हरियाणा-35.7
जम्मू कश्मीर-13.6
केरल-7.8
पंजाब- 6
झारखंड -16
पश्चिम बंगाल-7.4

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned