किसानों का नवाचार : कृषि विज्ञान केंद्र से जुड़कर 300 से अधिक किसान ऑनलाइन बेच रहे 23 उत्पाद

- स्पेशल चावल- दाल समेत कई प्रोडक्ट बेच रहे किसान, बिचौलियों से मिली निजात।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 07 Jun 2021, 06:06 PM IST

रायपुर / सरगुजा . करीब 300 किसान अपने कच्चे कृषि उत्पाद, उद्यान उत्पाद, शहद, देशी गाय का दूध, घी बिना बिचौलिया बेच रहे हैं। इसका जरिया कृषि विज्ञान केन्द्र बना है। सीधे उत्पाद बेचने से किसानों को बिचौलियों का चक्कर नहीं लगाना पड़ा रहा और दाम भी अपेक्षाकृत ज्यादा मिल रहे हैं। प्रसंस्करण इकाई में तैयार कर इन शुद्ध एवं देशी उत्पादों की आकर्षक पैकिंग की जाती है। एफपीओ से जुडऩ़े के लिए किसान से मात्र 1100 रुपए शेयर के रूप में लिए जाते हैं।

किसान उत्पादक संगठन द्वारा करीब 5 से 6 लाख के उत्पादों की ट्राइफेड, हस्त शिल्प विकास बोर्ड एवं खादी ग्रामोद्योग को आपूर्ति की गई है। फिलहाल एफपीओ के पास 23 उत्पाद उपलब्ध हैं। कृषि विज्ञान केंद्र की फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन (एफपीओ) द्वारा स्थानीय सुगंधित देशी चावल, देशी दाल सहित अन्य उत्पाद तैयार कर देशभर में स्थित सेल काउंटर में व ऑनलाइन बेचनेे की व्यवस्था की गई है। उत्पाद बिक्री करने ट्राइफेड, खादी ग्रामोद्योग, हस्त शिल्प विकास बोर्ड का सहयोग लिया जा रहा है। पिछले वित्तीय वर्ष में 36 लाख का कारोबार हुआ है।

READ MORE : माता-पिता की मौत के बाद बड़े पिता के घर रह रही युवती की फंदे पर झूलती मिली लाश से सनसनी

ये हैं देशी चावल- दाल व अन्य उत्पाद

- सुगंधित चावल-जीराफूल, रानीकाजल, लोहंदी, लालू।

- देशी चावल-केतकी, छिन्दमौरी, करहनी, खिरासार, नरपती।
- देशी दाल-अरहर, चना, कुल्थी, मूंग, मसूर।

- प्राकृतिक शहद-करंज, जंगली वन तुलसी, सरसों।
- सुगंधित तेल-लेमनग्रास, सेट्रोनेला, पामारोजा, लेमनग्रास चायपत्ती।

- हस्त निर्मित साबुन-लेमनग्रास एवं सिंदूर, लेमनग्रास एवं हल्दी, पामारोजा एवं सिंदूर, पामारोजा एवं हल्दी।
- अगरबत्ती-लेमनग्रास एवं सेट्रोनेला।

- शकरकंद आटा, देशी गाय का घी।
- सूखा मशरुम, मशरुम पावडर एवं सिन्दूर पाउडर।

READ MORE : फेसबुक में दोस्ती पड़ी भारी, महिला संबंधी अपराध में बढोत्तरी, पहले दोस्ती फिर झांसे में अस्मत लूटाई

कुछ उत्पाद का मूल्य(रुपए)

चावल जीराफूल 75/किलो
चावल छिंदमौरी 60/किलो
चावल लोहंदी 60/किलो
फॉरेस्ट हनी 110/250एमएल
देशी घी 220/250एमएल
दाल अरहर 95/किलो
मूंगदाल 83/किलो
कुल्थी दाल 48/किलो
चनादाल 83/किलो
मशरूम ड्राई 145/100ग्राम
मशरूम पाउडर 198/100ग्राम
शक्करकंद आटा 116/500ग्राम

इस व्यवस्था से किसानों को दाम अच्छे मिलते हैं और बीच का चक्कर भी खत्म हो गया है। एफपीओ ने पिछले साल 36 लाख का कारोबार किया है। खासकर देशी व सुगंधित चावल व देशी दाल की मांग बढऩे लगी है। ट्राइफेड, हस्त शिल्प विकास बोर्ड एवं खादी ग्रामोद्योग के माध्यम से देशभर में स्थित सेल काउंटर से व ऑनलाइन खाद्य सामग्री बिक रही है।
- डॉ आरएस राजपूत, प्रमुख कृषि विज्ञान केंद्र बैकुंठपुर

READ MORE : 25 लाख राशन कार्डों में आधार गलत, वन नेशन वन राशन कार्ड सत्यापन में हुआ खुलासा

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned